जानें किस देश में कब और क्यों मनाया जाता है ‘मदर्स डे’

medhaj news 11 May 17,21:05:41 Special Story
mother.jpg

‘मां’ शब्द सुनते ही हर शख्स की आंखों में सकून झलक उठता है, चाहे वह उम्र के किसी भी पढ़ाव से क्यों ना गुजर रहा हो। जब भी हम किसी तकलीफ में होते हैं तो जहन में सिर्फ मां का ख्याल आता है।

मां और बच्चे का रिश्ता संसार का एक खास रिश्ता है। यूं तो मां के प्रति सम्मान की भावना हर बच्चे के मन में हर दिन रहती है। लेकिन मां को सम्मानित करने के लिए एक खास दिन भी चुना गया है जिसे ‘मदर्स डे’  कहा जाता है। इस दिन को मई महीने के दूसरे रविवार को मनाया जाता है। अलग-अलग देशों में ‘मदर्स डे’ को मनाने की अलग-अलग कहानी है।

यह दिन दुनिया के हर कोने में अलग-अलग दिनों में मनाया जाता हैं। यहां तक की कई देशों में इस दिवन विशेष अवकाश भी घोषित किया जाता है।


ऐसा माना जाता है कि मां के प्रति सम्मान यानी मां की पूजा का रिवाज पुराने ग्रीस से आरंभ हुआ है। कहा जाता है कि स्य्बेले ग्रीक देवताओं की मां थीं, उनके सम्मान में यह दिन मनाया जाता था। यहां इस दिन को त्यौहार की तरह मनाने की प्रथा थी। एशिया माइनर के आस-पास और साथ ही साथ रोम में भी वसंत के आस-पास इदेस ऑफ मार्च 15 मार्च से 18 मार्च तक मनाया जाता था।


वहीं अमेरिका में सर्वप्रथम ‘मदर डे’ प्रोक्लॉमेशन जुलिया वॉर्ड होवे द्वारा मनाया गया था। होवे द्वारा 1870 में रचित "मदर डे प्रोक्लामेशन" में अमेरिकन सिविल वॉर (युद्घ) में हुई मारकाट संबंधी शांतिवादी प्रतिक्रिया लिखी गई थी। यह प्रोक्लामेशन होवे का नारीवादी विश्वास था जिसके अनुसार महिलाओं या माताओं को राजनीतिक स्तर पर अपने समाज को आकार देने का संपूर्ण दायित्व मिलना चाहिए। 


 

1912 में एना जॉर्विस ने सेकंड संडे इन मई फॉर 'मदर्स डे' को ट्रेडमार्क बनाया और मदर डे इंटरनेशनल एसोसिएशन का गठन किया।

 

वि‍भिन्न देशों में मदर्स डे के लिए अलग-अलग तारीखों का चयन किया गया है। कुछ देश इस दिन को प्रचलित धर्मों की देवी के जन्मदिन या पुण्य दिवस को इस रूप में मनाते है। जैसे कैथोलिक देशों में वर्जिन मैरी डे और इस्लामिक देशों में पैगंबर मुहम्मद की बेटी फातिमा के जन्मदिन की तारीखों से इस दिन को बदल लिया गया। 

वैसे कुछ देश 8 मार्च वुमंस डे को ही मदर्स डे की तरह मनाते हैं। यहां तक कि कुछ देशों में अगर मदर्स डे पर अपनी मां को विधिव‍त सम्मानित नहीं किया जाए तो उसे अपराध की तरह देखा जाता है।

 

चीन में मातृ दिवस बेहद लोकप्रिय है और इस दिन उपहार के रूप में गुलनार के फूल सबसे अधिक बिकते हैं। 1997 में चीन में यह दिन गरीब माताओं की मदद के लिए निश्चित किया गया था। खासतौर पर उन गरीब माताओं के लिए जो ग्रामीण क्षेत्रों, जैसे पश्चिम चीन में रहती हैं। 
 

जापान में मातृ दिवस शोवा अवधि के दौरान महारानी कोजुन (सम्राट अकिहितो की मां) के जन्मदिन के रूप में मनाया जाता था। आज कल इसे अपनी मां के लिए ही लोग मनाते हैं। बच्चे गुलनार और गुलाब के फूल उपहार के रूप में मां को अवश्य देते हैं।   

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...
    loading...

    Similar Post You May Like


    Trends

    Special Story