Headline



ख़ामोशी

Medhaj News 1 Mar 20,19:29:07 Special Story
kamushi_1.png

मुझे कुछ दिन ख़ामोश  रहने दो,

अभी तन्हा हूँ तो तन्हा रहने दो,

अजीब सा सन्नाटा पसरा है आस पास,

सुन सकूँ खुद की आवाज मुझे खुद के पास रहने दो,


न गिला है न शिकवा है किसी से,

फिर भी मेरी आंखों में सवाल रहने दो,

मत ढूँढो मुझे भरी महफिल मे ,

कुछ दिन मेरी मौजूदगी को नजर अंदाज़ रहने दो,


मालूम है उठेगें कई सवाल मुझपे,

दे पाऊ उनके जवाब इतना तो जिंदगी को मेरे साथ रहने दो,

हर मोड़ पे बदलती है रंग ज़िंदगी ,

सुना पाऊ सबको ये सार इतना तो वक्त मेरे पास रहने दो



----(प्रज्ञा शुक्ला)----


    Comments

    • Medhaj News
      Updated - 2020-03-12 17:53:43
      Commented by :Akanksha Srivastava

      Very Nice poem ma'am.


    • Medhaj News
      Updated - 2020-03-02 19:06:13
      Commented by :Bhawana Maurya

      Nice Lines!!


    • Medhaj News
      Updated - 2020-03-01 15:34:00
      Commented by :Vinay

      Nice....


    • Load More

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends