सुभाष चंद्र बोस की लव स्टोरी! जीवनी लिखवाने के लिए रखी टाइपिस्ट और फिर बना लिया उसे जीवनसाथी...

Manisha Rajor  |  Special Story  |  18 Aug 17,13:18:09  |  
subhash_chnadra_bose_life.jpg

सुभाज चंद्र बोस जिन्हें हम नेता जी के नाम से भी जानते हैं, भारत के वे स्वतंत्रता सेनानी थे जिनकी मौत का राज अभी तक साफ नहीं हुआ। हालांकि माना जाता है कि दूसरे विश्व युद्ध में जापान के आत्मसमर्पण के कुछ दिन बाद दक्षिण पूर्वी एशिया से भागते हुए ताइपे में एक हवाई दुर्घटना में 18 अगस्त, 1945 को बोस की मृत्यु हो गई थी। लेकिन ताइपे सरकार का कहना है कि 1945 में उनके देश में कोई विमान हादसा नहीं हुआ था। भारत में रहने वाले उनके परिवार के लोगों का आज भी यह मानना है कि सुभाष की मौत 1945 में नहीं हुई।

उनकी मौत की गुत्थी आज भी अनसुल्झी है। इतिहास में नेताजी के योगदान को तो हर कोई जानता है.. लेकिन देश की इसी स्वतंत्रता में लिए उन्होंने अपने प्यार को पीछे छोड़ दिया... अपने प्यार की निशानी को छोड़ दिया। जी हां, सुभाष चंद्र बोस ने लव मैरिज की थी, ज्यादातर लोग उनकी इस लव मैरिज के बारे में नहीं जानते और न ही उनकी पत्नी ने इस बात को सार्वजनिक तौर पर रखा।

आइए आज जानते हैं, नेताजी की लव मैरिज के बारे में...  

1934 में सुभाष चन्द्र बोस ऑस्ट्रिया में अपना इलाज करा रहे थे। उस समय उन्होंने सोचा कि अपनी जीवनी लिखी जाए। इसके लिए उन्हें टाइपिस्ट की जरूरत थी। उनके ऑस्ट्रिया के एक दोस्त ने एमिली शेंकल को इसके लिए नेताजी से मिलवाया। नेताजी ने एमिली को नौकरी पर रख लिया। वह अपनी जीवनी एमिली डिक्टेट करते थे। इसी दौरान दोनों में प्यार हो गया और 1937 में दोनों ने शादी कर ली।

नाजी जर्मनी के सख्त कानूनों को देखते हुए उन दोनों ने सन् 1942 में बाड गास्टिन नामक स्थान पर हिन्दू रीति-रिवाज से विवाह रचा लिया। 29 नवंबर 1942 में वियेना में एमिली ने एक पुत्री को जन्म दिया। सुभाष ने उसे पहली बार तब देखा जब वह मुश्किल से चार सप्ताह की थी। उन्होंने उसका नाम अनिता बोस रखा था।

आपको बता दें, अगस्त 1945 में ताइवान में हुई तथाकथित विमान दुर्घटना में जब सुभाष की मौत हुई, अनिता पौने तीन साल की थी। अनिता अभी जीवित है। उनका नाम अनिता बोस फाफ है। अपने पिता के परिवार जनों से मिलने अनिता फाफ कभी-कभी भारत भी आती है।

 

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    loading...