सैनिको पर पत्थर फेकने वाली लड़की बनी जम्मू-कश्मीर महिला फुटबाल टीम की कैप्टन

medhaj news 6 Dec 17 , 06:01:37 Sports
jammu_and_kashmir_women_foo_1512477491.jpg

एक समय ऐसा भी था, जब अफशां आशिक असंतुष्ट छात्रा के रूप में श्रीनगर की गलियों में पुलिस पर पत्थर फेंकने वाली लड़कियों के गुट की अगुवाई करती थीं। लेकिन अब हालात बदल गए हैं पत्थर फेंकने वाले छात्रों की यह पोस्टर गर्ल अब जम्मू-कश्मीर महिला फुटबाल टीम की कप्तान बन गई हैं। 

अफशां की कहानी और उसके जीवन में आया ये बदलाव किसी सपने जैसा है। यह एक तरह से कश्मीरियों के दिलों को जीतने की सरकार की कोशिशों की दास्तां भी बयान करता है।

वह 22 सदस्यीय फुटबाल टीम को लेकर गृहमंत्री से मिलने पहुंची। सिंह ने टीम को मिलने के लिए बुलाया था। आधे घंटे तक चली बैठक में गृहमंत्री से कहा कि अगर जम्मू-कश्मीर में खेल का सही आधारभूत ढांचा तैयार किया जाए तो युवा आतंकवाद और अन्य गैरकानूनी गतिविधियों की बजाय अपने कौशल को निखारने के लिए प्रेरित होंगे। 

अफशां की जिंदगी पर जल्द ही फिल्म भी बनाई जा सकती है। उन्होंने कहा कि मेरी जिंदगी हमेशा के लिए बदल गयी। वह विजेता बनना चाहती हैं और कश्मीर के साथ देश को गौरवान्वित करने के लिए कुछ करना चाहती हैं। बॉलीवुड के मशहूर फिल्मकार अफशां की कहानी पर फिल्म बनाने की योजना बना रहे हैं, लेकिन अपने नाम का खुलासा नहीं करना चाहते।

कश्मीर में खेलों को बढ़ाने पे विचार किया जायेगा
अफशां ने बताया गृहमंत्री ने जम्मू-कश्मीर में खेल का आधारभूत ढांचा बनाने पर तुरंत मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती से फोन पर बात की और उनसे जरूरी मदद मांगी। प्रधानमंत्री के विशेष पैकेज के तहत राज्य के लिए पहले ही 100 करोड़ रूपए दिए जा चुके हैं। श्रीनगर की रहने वाली अफशां अभी मुंबई के एक क्लब के लिए खेल रही हैं। वह मानती हैं कि उनकी जिंदगी और करियर ने जब यू टर्न लिया तब उनकी फोटो पत्थर फेंकने वाली के तौर पर राष्ट्रीय मीडिया में आ गई थी।  

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...
    loading...

    Similar Post You May Like