HPERC ने तय किए नए मापदंड, अब बिजली बोर्ड को छोटे प्रोजेक्ट्स से खरीदनी होगी बिजली

Medhaj News 24 Nov 17 , 06:01:37 Sports
solar_energy.jpg

हिमाचल प्रदेश विद्युत नियामक आयोग (Renewal energy sources and term and conditions for tariff Determination) विनियम, 2012  के तहत बिजली खरीद के लिए नए  मापदंड तय करेगी। जिससे अब छोटे पावर प्रोजेक्ट्स से बिजली की खरीद नए मापदंडों के अनुसार होगी। इन प्रोजेक्ट्स से बिजली की खरीद बिजली बोर्ड की तरफ से की जाएगी और बिजली खरीद के नए मापदंड अक्टूबर, 2017 से लागू किए जाएंगे।

Renewable energy project विनियम 18 के तहत होंगे तय-

हिमाचल प्रदेश विद्युत नियामक आयोग ने कहा, कि नए मापदंड के अनुसार पवन ऊर्जा प्रोजेक्ट अवधि 25 वर्ष, बायोमास पावर प्रोजेक्ट, गैर-जीवाश्म, ईंधन आधारित प्रोजेक्ट अवधि 20 वर्ष, एस.एच.पी. अवधि 40 वर्ष, म्यूनिसिपल सॉलिड वेस्ट प्रोजेक्ट 20 वर्ष, सोलर/ताप प्रोजैक्ट अवधि 25 साल तथा अन्य तरह के रिनिवल एनर्जी प्रोजेक्ट विनियम 18 के तहत तय होंगे।

बिजली खरीद के लिए ये होंगे नए मापदंड-

बिजली की खरीद के लिए जो नए मापदंड तय किए गए हैं, इसके तहत जो प्रोजेक्ट 100 किलोवाट से 2 मेगावाट के बीच आते हैं, उनसे 880 रुपए प्रति मेगावाट के अनुसार तय होगी। इसी तरह 2 मेगावाट से 5 मेगावाट के लिए 850 रुपए प्रति मेगावाट तथा 5 मेगावाट से 24 मेगावाट के लिए 800 रुपए लाख प्रति मैगावाट तय किए गए हैं।

इसके अलावा केंद्र एवं राज्य स्तर पर मिलने वाले अनुदान को विनियम 22 के तहत समायोजित किया जाएगा और वार्षिक संचालन एवं मरम्मत कार्य के लिए भी मापदंड तय किए गए हैं।

 

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...
    loading...

    Similar Post You May Like