रणतुंगा ने मैच फिक्सिंग मामले में भारत से मांगी मदद

Medhaj news 23 Oct 18 , 06:01:38 Sports
SL.jpg

वर्तमान में भ्रष्टाचार की गहरी जड़ों से लड़ रहे श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड (सीएलसी) को एक और झटका लगा है। उसके मुख्य वित्तीय अधिकारी (सीएफओ) को वित्तीय धोखाधड़ी के आरोपों के बाद गिरफ्तार कर लिया गया है। यह जानकारी पुलिस ने दी। पुलिस प्रवक्ता रुवान गुणासेकरा ने कहा कि पुलिस महानिरीक्षक को सीएलसी की शिकायत मिलने के बाद पियाल नंदना को गिरफ्तार कर लिया गया।श्रीलंका ने देश में मैच फिक्सिंग से जुड़े मामलों को निपटाने के लिए भारत से मदद मांगी है। श्रीलंका सरकार में कैबिनेट मंत्री और पूर्व कप्तान अर्जुन रणतुंगा ने कहा-श्रीलंका में फिक्सिंग से जुड़े मामलों की जांच और इससे संबंधित कानूनी मसौदा बनाने में भारत उनकी मदद करेगा। 

श्रीलंका ने भ्रष्टाचार के मामले उजागर होने के बाद यह कहा था कि जांच के लिए एक विशेष पुलिस यूनिट का गठन होगा। सीबीआई ने साल 2000 में रणतुंगा और अरविंद डी सिल्वा पर फिक्सिंग का आरोप लगाया था, लेकिन बाद में दोनों को आरोपमुक्त कर दिया गया था। हाल ही में पूर्व कप्तान सनथ जयसूर्या पर आईसीसी ने फिक्सिंग से जुड़े मामले में सहयोग नहीं देने का आरोप लगाया था।गाले मैदान के ग्राउंड्समैन थरंगा इंडिका और क्रिकेटर थरींडू मेंडिस पर फिक्सिंग के आरोप लगे थे। दोनों पर लगा था कि उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट के चौथे दिन मेजबान टीम को फायदा देने के लिए पिच बनाया था। दोनों को श्रीलंका क्रिकेट ने प्रतिबंधित कर दिया। इस मामले में प्रोविंसियल कोच जीवंता कुलतुंगा पर भी प्रतिबंध लगा था।

ये भी पढ़े - भारत और वेस्टइंडीज़ के बीच दूसरा वनडे मैच कल, बन सकते है कई रिकॉर्ड

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...

    Similar Post You May Like