Headline



मेजबान टीम ने इस पहाड़ से लक्ष्य को पार कर टीम इंडिया को हराया

Medhaj News 5 Feb 20 , 06:01:40 Sports
nz2.JPG

कोई टीम अगर 347 रन बनाए और फिर भी विरोधी टीम जीत जाए तो इससे ज्यादा शर्म की बात किसी भी टीम के लिए नहीं हो सकती है | हैमिल्टन वनडे में टीम इंडिया के साथ कुछ ऐसा ही हुआ है | हैमिल्टन के सेडन पार्क में भारत ने न्यूजीलैंड (India vs New Zealand) से पहला वनडे मैच गंवा दिया |  भारत ने 50 ओवरों में 347 रनों का विशाल स्कोर बनाया था लेकिन इसके बावजूद मेजबान टीम ने इस पहाड़ से लक्ष्य को आसानी से पूरा कर लिया | कोई भी टीम अगर 347 रन बनाने के बावजूद हार जाए तो उसके गेंदबाजों पर सवाल उठने लाजमी हैं | टीम इंडिया के गेंदबाजों ने हैमिल्टन में बेहद ही खराब लाइन और लेंग्थ से गेंदबाजी की जिसका खामियाजा टीम को भुगतना पड़ा | मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह, शार्दुल ठाकुर, कुलदीप यादव (Kuldeep Yadav) जैसे गेंदबाजों की धुनाई कीवी बल्लेबाजों ने जबर्दस्त अंदाज में की | शार्दुल ने 80 रन दे दिये और कुलदीप यादव ने 84 रन लुटाए | यही नहीं भारतीय गेंदबाजों ने हैमिल्टन में 24 वाइड गेंद फेंकी, जो कि पिछले 7 सालों में उसका सबसे घटिया प्रदर्शन है | भारत ने 7 साल पहले साउथ अफ्रीका के खिलाफ जोहानिसबर्ग में 20 से ज्यादा वाइड गेंद फेंकी थी |





भारतीय टीम ने हैमिल्टन वनडे में एक बार फिर साबित कर दिया कि उसकी फील्डिंग का स्तर लगातार गिर रहा है | खराब फील्डिंग का खामियाजा टीम इंडिया को हार से चुकाना पड़ा | भारत की मैदानी फील्डिंग बेहद खराब रही, खासकर मोहम्मद शमी और कुलदीप यादव की | कुलदीप यादव ने तो जडेजा की गेंद पर रॉस टेलर (Ross Taylor) का आसान कैच टपका दिया | 23वें ओवर में जडेजा की तीसरी गेंद पर कुलदीप यादव ने बैकवर्ड स्क्वायर लेग पर रॉस टेलर को जीवनदान दिया | जब रॉस टेलर का कैच छूटा तो वो महज 59 रन पर थे | इसके बाद टेलर ने भारतीय गेंदबाजों की धुनाई करते हुए सिर्फ 73 गेंदों में शतक ठोक दिया | यही नहीं उन्होंने टॉम लैथम के साथ चौथे विकेट के लिए 138 रनों की साझेदारी भी कर दी, जिसने भारतीय टीम की हार की स्क्रिप्ट लिख दी |  विराट कोहली और टीम इंडिया मैनेजमेंट की रणनीति भी इस हार की बड़ी वजह रही | भारतीय टीम ने नवदीप सैनी के होने के बावजूद शार्दुल ठाकुर (Shardul Thakur) को हैमिल्टन में मौका दिया | शार्दुल ठाकुर को मौका देने के पीछे ये सोच है कि वो अच्छी बल्लेबाजी कर लेते हैं | बस यही सोच टीम इंडिया को ले डूबी | न्यूजीलैंड के खिलाफ आखिरी दो टी20 सीरीज में जिस तरह की गेंदबाजी नवदीप सैनी ने की, उन्हें मौका मिलना चाहिए था | शायद विराट कोहली को अपने बल्लेबाजों पर भरोसा नहीं इसलिए वो 8वें नंबर पर भी किसी ऐसे गेंदबाज को ढूंढती है जो बल्लेबाजी कर सकता हो | विराट कोहली ने हैमिल्टन वनडे में सिक्के की बाजी गंवायी, इसलिए भी टीम इंडिया को नुकसान झेलना पड़ा | दरअसल सेडन पार्क की पिच बाद में बल्लेबाजी के लिए काफी आसान हो गई, इसलिए कीवी टीम ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी चुनी |


    Comments

    Leave a comment


    Similar Post You May Like

    Trends