Headline

मसूद अज़हर को लेकर चीन की राय अचानक बदल गई

Medhaj News 19 Mar 19 , 06:01:39 Sports
masood_azahar.jpg

पुलवामा हमले के बाद जिस तरह पूरी दुनिया आतंकवाद के खिलाफ भारत के साथ खड़ी दिखी उससे उम्मीद जगी थी कि आतंकी सरगना मसूद अजहर को लेकर चीन की राय अब तो बदलेगी | संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में वो मसूद अजहर को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित किए जाने का समर्थन करेगा | ताकि मसूद अजहर पर शिकंजा पूरी तरह से कसा जा सके | मगर पिछले तीन बार की तरह चौथी बार भी चीन से धोखा ही मिला | लेकिन अब मसूद अज़हर को लेकर चीन की राय अचानक बदल गई | अब चीन मसूद अज़हर को नहीं बचाएगा | अब उसने संयुक्त राष्ट्र में मसूद का मसला जल्द हल होने की बात कही है | चीन ने अचानक ये कह कर पाकिस्तान की मुश्किलें बढ़ा दी हैं कि मसूद अज़हर को लेकर वो भारत की चिंता समझता है और मसूद का मसला अभी खत्म नहीं हुआ है | भारत में चीन के राजदूत लुओ झाहुई ने भरोसा दिलाया है कि यूएन में मसूद अजहर का मामला जल्द निपटेगा | उन्होंने कहा कि मसूद का मामला अभी टेक्निकल होल्ड पर रखा गया है |





ये वही चीन है जो अब तक चार बार संयुक्त राष्ट्र की सुरक्षा परिषद में वीटो का इस्तेमाल कर मसूद अजहर को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित किए जाने से रोकता आया है | मगर अब चौतरफा दबाव के बाद पहली बार चीन ने मसूद के बारे में इस तरह की बातें कही हैं | कुल मिलाकर पिछले 10 सालों में चीन मसूद अजहर को बचाने के लिए चार बार चाल चल चुका है | 2009 में भारत खुद ये प्रस्ताव लेकर आया था | वहीं 2016 में भारत ने पी-3 यानी अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन ने मिलकर प्रस्ताव पेश किया था | 2017 में पी-3 देशों ने ही ये प्रस्ताव पेश किया था | और इस बार भी पुलवामा आतंकी हमले के बाद ये प्रस्ताव फ्रांस, ब्रिटेन और अमेरिका लेकर आया |  इस बार चीन ने इस प्रस्ताव को गिराने के लिए वीटो पॉवर का इस्तेमाल नहीं किया है, बल्कि सूत्रों के मुताबिक चीन ने प्रस्ताव को ‘टेक्निकल होल्ड’ पर रखा है | टेक्निकल होल्ड का मतलब है कि उसे प्रस्ताव पर विचार करने के लिए कुछ और वक्त चाहिए | इस लिहाज़ से ऐसा नहीं है कि मसूद अज़हर के सिर पर लटकी अंतर्राष्ट्रीय आतंकी घोषित होने की तलवार हट गई है | नतीजा जो भी हो लेकिन अब मसूद अजहर को लेकर चीन का नया बयान उम्मीद जगाता है |


    Comments

    Leave a comment


    Similar Post You May Like