भारतीय सरकार ने पाकिस्तानी खिलाड़ियों को वीजा दिया

Medhaj News 16 Feb 20 , 06:01:40 Sports
bharat_pakistan.png

दिल्ली में इस हफ्ते से शुरू होने वाली एशियन रेसलिंग चैंपियशिप (Asian Wrestling Championship) में हिस्सा लेने के लिए चार पाकिस्तानी पहलवान भारत आएंगे | चार पहलवानों के साथ दो अधिकारी भी दिल्ली पहुंचेंगे | काफी दिनों से पाकिस्तानी दल के भारत आने पर असमंजस की स्थिति थी, हालांकि मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, शनिवार रात को पूरे पाकिस्तानी दल को वीजा दे दिया गया है | न्यू इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, पहलवानों का यह जत्था पहला पाकिस्तानी दल होगा जो पिछले साल फरवरी में हुए पुलवामा अटैक के बाद किसी खेल इवेंट में हिस्सा लेने के लिए भारत आएगा | पाकिस्तान के मोहम्मद बिलाल (57 किग्रा), अब्दुल रहमान (74 किग्रा), तायब रजा (97 किग्रा) और जमान अनवर (125 किग्रा) एशियन चैंपियनशिप में फ्रीस्टाइल इवेंट में अपने देश का प्रतिनिधित्व करेंगे | अखबार के मुताबिक, भारतीय कुश्ती महासंघ (WFI) के एक सूत्र ने कहा कि पाकिस्तान (Pakistan) के साथ हमारे देश के रिश्ते अच्छे नहीं हैं, लेकिन ओलिंपिक चार्टर को निभाने के लिए सरकार को वीजा देना पड़ा है | इन पहलवानों के मैच चैंपियनशिप में 21 फरवरी को होंगे और यह दल 20 फरवरी को भारत आ जाएगा, लेकिन अब उनके भेजने या नहीं भेजने का फैसला पाकिस्तान को करना है |





रेसलिंग फेडरेशन के सह-सचिव विनोद तोमर ने कहा - पाकिस्तानी रेसलर केवल फ्रीस्टाइल कैटेगरी में हिस्सा लेंगे, इस कारण वह चैंपियनशिप में कुछ दिन देरी से पहुंचेगे | जिन देशों ने महिला, पुरुष और ग्रीको रोमन तीनों कैटेगरी में खिलाड़ियों को भेजा है वह सभी रविवार तक पहुंच जाएंगे | जहां पाकिस्तानी दल को वीजा दे दिया गया, वहीं चीन के पहलवानों के वीजा को लेकर अब तक स्थिति साफ नहीं है | चीन ने तीनों कैटेगरी के लिए 30 पहलवान और 10 अधाकरियों का नाम भेजा है | वर्ल्ड रेसलिंग फेडरेशन के मुताबिक, अब तक चीन के पहलवानों को वीजा नहीं दिया गया है | इस पर बात करते हुए विनोद तोमर ने कहा - चीनी फेडरेशन के अधिकारियों से बातचीत चल रही है पर अभी कुछ नहीं कहा जा सकता | सोमवार तक का इंतजार करना होगा उसके बाद ही इस पर आखिरी फैसला लिया जाएगा | हालांकि कुश्ती की विश्व संस्था यूडब्ल्यूडब्ल्यू और अंतरराष्ट्रीय ओलिंपिक समिति (आइओसी) का डब्ल्यूएफआइ पर चीनी पहलवानों को वीजा देने का दबाव बना हुआ है और अगर उसने ऐसा नहीं किया तो उस पर प्रतिबंध भी लग सकता है |


    Comments

    Leave a comment


    Similar Post You May Like

    Trends