आखिर क्यों 25 दिसंबर को मनाया जाता है क्रिसमस डे, क्या है इसकी मान्यताएं?

मेधज न्यूज  |  Trends  |  23 Dec 16,11:58:09  |  
christams.jpg

पूरे भारत समेत दुनियाभर में 25 दिसंबर की तारीख को क्रिसमस के रूप में मनाया जाता है। बताया जाता है कि 25 दिसंबर को ईसाई धर्म के प्रभु यीशु का जन्म हुआ था, लेकिन यीशु के मानने वाले कई महान लोगों का मानना है कि यीशु का जन्म 25 दिंसबर को नहीं हुआ था।

....तो आखिर क्यों 25 दिसंबर को ही क्रिसमस सेलिब्रेट किया जाता है? कभी सोचा है आपने?

ईसाई धर्म के कई लोगों का मानना है कि यीशु के पैदा होने और मरने के सैकड़ों सा बाद लोगों ने 25 दिसंबर को उनका जन्मदिन मनाना शुरु किया था। मगर इस तारीख का कोई प्रमाण नहीं है क्योंकि सबूतों की मानें, तो उनका जन्म अक्टूबर में हुआ था। ईसाई होने का दावा करने वाले कुछ लोगों ने बाद में जाकर इस दिन को चुना था क्योंकि इस दिन रोम में गैर ईसाई लोग अजेय सूर्य का जन्मदिन मनाते थे और ईसाई चाहते थे की यीशु का जन्मदिन भी इसी दिन मनाया जाए।

सर्दियों के मौसम में जब सूरज की गर्मी कम हो जाती है तो जो लो ईसाई नहीं थे वह लोग इस आशा से पूजा करते थे कि सूरज अपनी लम्बी यात्रा से लौट आए और दोबारा गर्मी व रोशनी प्रदान करे। उनका मानना गै कि 25 दिसंबर को सूरज वापस लौटना शुरु करता है

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।


    loading...