छत्तीसगढ़: रमन सिंह के खिलाफ अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी चुनाव लड़ेगी

Medhaj news 23 Oct 18,21:04:04 Uday Yojana
BBOLIP5.jpeg

छत्तीसगढ़ में पहले चरण के वोटिंग के लिए नॉमिनेशन का आखिरी दिन 23 अक्टूबर दिन है। कांग्रेस ने पहले चरण की 18 सीटों के लिए उम्मीदवारों के नाम फाइनल कर दिए हैं। सीएम रमन सिंह के खिलाफ कांग्रेस ने कभी बीजेपी छत्तीसगढ़ का एक बड़ा चेहरा रहीं करुणा शुक्ला को चुनावी मैदान में उतारने का फैसला किया है।करुणा शुक्ला ने कुछ वर्ष पहले बीजेपी छोड़ कांग्रेस में शामिल हो गईं थीं |

ये भी पढ़े - बीजेपी के टिकट पर महेंद्र सिंह धोनी और गौतम गंभीर 2019 का लोकसभा चुनाव लड़ सकते हैं

पार्टी की लिस्ट के मुताबिक गिरवार जंघेल खैरागढ़ सीट से, भुनेश्वर सिंह बघेल डोंगरगढ़ (SC) और दलेश्वर साहू डोंगरगांव विधानसभा सीट से चुनाव लड़ेंगे | इसके अलावा चन्नी साहू को खुज्जी सीट से और इंद्र शाह मंडावी को मोहला..मानपुर (ST) सीट से मैदान में उतारा गया है |

करुणा शुक्ला पहली बार 1993 में बीजेपी से विधायक चुनी गईं और जांजगीर से सांसद रह चुकी हैं | बीते 4-5 साल से वे कई मौकों पर खुलेआम बीजेपी नेतृत्व, खास तौर से छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह की आलोचना करती आईं हैं | बीजेपी में अनदेखी से नाराज करुणा ने साल 2014 के लोकसभा चुनावों से पहले कांग्रेस का हाथ थाम लिया | तब कांग्रेस ने उन्हें बिलासपुर से टिकट दिया लेकिन वे हार गईं | अब कांग्रेस ने उन्हें राजनांदगांव से सूबे के मुख्यमंत्री के खिलाफ उतारा है |

ये भी पढ़े - राजा भईया सोमवार को सीएम योगी आदित्यनाथ से मिले

मुख्यमंत्री के खिलाफ शुक्ला को उम्मीदवार बनाए जाने को लेकर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मीडिया विभाग के अध्यक्ष शैलेष नितिन त्रिवेदी ने कहा कि वह (शुक्ला) कांग्रेस से जुड़ने के बाद राजनांदगांव क्षेत्र में लगातार सक्रिय हैं | वह पार्टी की मजबूत उम्मीदवार हैं और सिर्फ मुख्यमंत्री को चुनौती नहीं देंगीं बल्कि उनके खिलाफ जीत भी हासिल करेंगी |

छत्तीसगढ़ में पिछले 15 वर्षों से कांग्रेस सत्ता से बाहर है और इस बार के चुनाव में वह सत्ता वापसी की कोशिश में है | वहीं बीजेपी इस चुनाव में 65 से अधिक सीटों में जीत हासिल कर चौथी बार सरकार बनाना चाहती है | राज्य में वर्ष 2013 में हुए चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को 90 सीटों में से 49 सीटों पर और कांग्रेस को 39 सीटों पर जीत मिली थी | वहीं एक-एक सीटों पर बसपा और निर्दलीय विधायक हैं |

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...

    Similar Post You May Like