अस्पताल ने नोट लेने से किया मना, नवजात बच्ची की हुई मौत

Medhajnews 10 Nov 16,12:27:29 Uttar Pradesh
nawjat.jpg

भले ही 500 और 1000 रूपए के नोट बैन को कालेधन पर लगाम लगाने के लिए एक बड़ा कदम माना जा रहा है। वहीं सरकार लोगों को असुविधा न हो इसके लिए काफी कदम भी उठा रही है, लेकिन अचानक ले गए इस फैसले से कुछ लोगों को जरूरत से ज्यादा परेशानी हो रही है। वहीं इसी बीच एक ऐसा मामला सामने आया है, जो दिल दहला देने वाला है। उत्तर प्रदेश के खुर्जा के एक परिवार का आरोप है कि एक प्राइवेट हॉस्पिटल ने 1000 के नोट लेने से इनकार कर दिया, जिससे एक नवजात बच्चे की मौत हो गई।

अभिषेक का कहना है कि उसने अपनी पत्नी एकता को डिलीवरी के लिए प्राइवेट अस्पताल कैलाश गया था। वहां उसे 10,000 रूपए जमा कराने के लिए बोला गया, लेकिन जब वो पैसे लेकर काउंटर पर पंहुचा तो अस्पतालवालों ने 1000 का नोट लेने से मना कर दिया। परिवालवालों ने अस्पतालवालों से काफी मिन्नते की, लेकिन वह टस-से-मस नहीं हुए। अभिषेक के मुताबिक अस्पताल ने इलाज में देरी के कारण ही डिलीवरी में देरी हुई, उसी की वजह से उसकी बच्ची की मौत हो गई।

वहीं अस्पताल का कहना है कि बच्ची पहले से ही मृत थी।

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...
    loading...

    Similar Post You May Like


    Trends

    Special Story