जो बाइडन को अपने कार्यकाल के शुरुआती 10 दिन में इन संकटों से निपटना पड़ेगा

नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन अपने कार्यकाल के पहले दिन देश के सामने मौजूद चार चुनौतियों से निपटने के लिए करीब एक दर्जन प्रस्तावों पर हस्ताक्षर करेंगे | व्हाइट हाउस के नवनियुक्त चीफ ऑफ़ स्टाफ रोन क्लीन ने कहा कि अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति बाइडन ऐसे समय में कार्यभाल संभाल रहे हैं, जब देश गंभीर संकट से जूझ रहा है। हमारे सामने चार बड़े संकट हैं। जिनसे हमें निपटना है, ये संकट हैं- कोविड-19 संकट, इसके कारण पैदा हुआ आर्थिक संकट, पर्यावरण से जुड़ा संकट और नस्लीय समानता (के अभाव) से जुड़ा संकट। इन सभी संकटों के समाधान के लिए तुरंत कदम उठाए जाने की आवश्यकता है और जो बाइडन अपने कार्यकाल के शुरुआती 10 दिन में इन संकटों से निपटने के लिए निर्णायक कदम उठाएंगे। 

क्लीन ने कहा - शपथ ग्रहण के दिन नवनिर्वाचित राष्ट्रपति बाइडन चार संकटों से निपटने के लिए करीब एक दर्जन प्रस्तावों पर हस्ताक्षर करेंगे। उन्होंने कहा कि जैसे कि पहले ही घोषणा की गई थी, वह शिक्षा विभाग से छात्रों के लिए ऋण के भुगतान पर मौजूदा रोक की अवधि बढ़ाएंगे, पेरिस समझौते में पुन: शामिल होंगे और मुसलमानों पर प्रतिबंध हटाएंगे। 



 


    Share this story