सरकारी बंगले के विवाद में फसे अखिलेश यादव, बोले मुझे फ़साने की साजिश

Medhaj news 13 Jun 18,20:19:12 World
akhilesh.jpg

सरकारी बंगले को लेकर अखिलेश यादव सफाई देने मीडिया के सामने आए। राज्यपाल राम नाईक ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर मामले को गंभीर बता जांच के निर्देश दिए थे, जिसके बाद सपा अध्यक्ष मीडिया से मुखातिब हुए। इस दौरान उन्होंने बंगले को लेकर सरकार पर साधा निशाना। उन्होंने कहा, बंगले में सीएम के ओएसडी गए थे। उन्होंने कहा कि सरकार गिनती बताए, सारी टोटी वापस कर दूंगा। उन्होंने कहा कि मैंने उस घर को अपने तरीके से बनवाया था। उन्होंने मीडिया से सवाल करते हुए पूछा, आप लोगों को पता है टोटी किसने निकाली?  
प्रेस कॉन्फ्रेंस में अखिलेश ने टोंटी दिखाते हुए कहा कि एक लैपटॉप की कीमत से ज्यादा टोंटी की कीमत नहीं है। उन्होंने कहा कि बंगले में जो मंदिर है वो हमने बनवाया था, हमें मेरा मंदिर लौटा दो। उन्होंने कहा,'मैं उन मीडिया कर्मियों का शुक्रिया अदा करता हूं, जिन्होंने मेरा मंदिर दिखाया और मेरे बच्चों का कमरा दिखाया'।
सपा मुखिया ने कहा कि जो मेरी चीज थी, वो मैं लेकर गया। मशीनें हमारी हैं, हम ले गए। अगर सरकारी दस्तावेज में ये सभी चीजें दर्ज हैं तो मुझे दिखाएं। उन्होंने कहा कि सरकार कागज से चलती है बातों से नहीं चलती। मीडिया को संबोधित करते हुए उन्होंने आरोप लगाया कि सपा को बदनाम करने के लिए ये सब सरकार के इशारे पर हो रहा है। उन्होंने कहा बीजेपी की दिल बहुत छोटा है। स्विमिंग पूल को पाटे जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि स्विमिंग पूल कहां था ये बताइए।

'सीएम के ओएसडी बंगले में क्या करने गए थे'
इस दौरान उन्होंने कहा कि बंगले को मैंने अपनी पसंद से बनवाया था। आज भी वहां पर जो वुडेन फ्लोरिंग लगी है, मंदिर है और अन्य चीजें हैं, मैंने अपने पैसे से लगवाई हैं. तोड़फोड़ की खबरों पर अखिलेश यादव ने कहा कि उनके द्वारा बंगला खाली करने के बाद सीएम योगी के ओएसडी अभिषेक और आईएएस अफसर मृत्युंजय नारायण वहां गए थे। मैं पूछना चाहता हूं कि वो क्या करने गए थे? ये लोग फोटोग्राफर लेकर गए थे। अखिलेश ने कहा कि बंगले में वुडेन फ्लोरिंग के साथ ही तमाम चीजें अभी भी जस की तस हैं। ​एक टूटे हुए कोने की तस्वीर इस तरह से खींची गई कि लगे कि पूरा बंगला ही खराब कर दिया गया।
'गवर्नर साहब के अंदर संघ की आत्मा है'
इस दौरान उन्होंने कहा कि गवर्नर साहब अच्छे इंसान हैं। लेकिन वो संविधान के हिसाब से नहीं चल रहे हैं, उनके अंदर संघ की आत्मा है।

उपचुनाव में मिली हार के बाद बौखलाई बीजेपी
उन्होंने कहा कि बीजेपी ये सब इसलिए कर रही है। क्योंकि हमने उन्हें उपचुनाव में हार का मुंह दिखाया है। उन्होंने इशारे-इशारे में आगमी लोकसभा चुनाव की भी बात कहीं. उन्होंने कहा, 'समाजवादी पार्टी 2019 में होने वाले चुनाव जी-जान से लड़ेगी, प्रधानमंत्री कोई भी हो, लेकिन अगला प्रधानमंत्री बीजेपी का नहीं बनने देंगे'।

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...
    loading...

    Similar Post You May Like


    Trends