Headline



ईरान के टॉप कमांडर कासिम सुलेमानी की हत्या में इस्राइल ने की थी अमेरिका की मदद

Medhaj News 14 Jan 20,17:34:48 World
GettyImages.jpg

अमेरिका ने ईरान के सैन्य कमांडर कासिम सुलेमानी को दुनिया का नंबर वन आतंकी बताकर एयरस्ट्राइक में मार गिराया है। अमेरिका (America) की इस सख्त कार्रवाई के बाद जहां ईरान में गुस्सा है और दोनों देशों के बीच संघर्ष पैदा हो गया है, वहीं अमेरिका के अंदर भी डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन के कदम की आलोचना हो रही है। डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने अपनी इस आलोचना को अमेरिका का अपमान करार दिया है।

3 जनवरी को अमेरिका ने जनरल कासिम सुलेमानी पर इराक की सरहद में एयरस्ट्राइक की थी, जिसमें ईरान के दूसरे सबसे ताकतवर शख्स कासिम सुलेमानी की मौत हो गई थी। अमेरिका के इस कदम के बाद ईरान ने खुलेआम बदला लेने का ऐलान कर दिया था और सुलेमानी को दफनाने से पहले ईरान ने इराक स्थित अमेरिका के सैन्य बेस को निशाना भी बनाया था।





एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, जनरल सुलेमानी को मारने के ऑपरेशन में इस्राइल ने कई खुफिया जानकारी अमेरिकी एजेंसियों को मुहैया कराई थी। इतना ही नहीं, अमेरिकी ऑपरेशन के बारे में इस्राइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतान्याहू को भी पहले से जानकारी दी।एयरपोर्ट पर थे जासूस

उधर, रॉयटर्स ने भी अपनी एक रिपोर्ट में बताया कि सुलेमानी के बारे में खुफिया जानकारी देने में एक एयरलाइंस के कुछ कर्मचारी भी शामिल थे। इनमें से एक दमिश्क एयरपोर्ट पर काम करता था। वहीं तीन से चार और जासूस थे, जिन्होंने अमेरिकी एजेंसियों को सुलेमानी के बारे में जानकारी दी थी।

वहीं, बगदाद एयरपोर्ट के दो सुरक्षा अधिकारी और चाम एयरलाइंस के दो कर्मचारियों ने भी कासिम सुलेमानी के बारे में अमेरिका को जानकारी दी थी। चाम एयरलाइंस की फ्लाइट से ही कासिम सुलेमानी बगदाद पहुंचे थे।

न्यूयॉर्क टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, नेतान्याहू ने अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो से इस बारे में बात भी की थी। इस खुलासे के बाद अब इस्राइल और ईरान के बीच तनाव बढ़ सकता है। एनबीसी न्यूज की रिपोर्ट में कहा गया है कि ईरान के इस्लामी रेवॉल्यूशनरी गार्ड कोर के शीर्ष जनरल सुलेमानी की सीरियाई एयरपोर्ट पर मौजूदगी की जानकारी मिलने के बाद इस्राइल ने इसकी पुष्टि करने में मदद की थी। इस्राइल ने मजबूत किया सुरक्षा घेरा

इस बीच, ईरान से तनाव को देखते हुए इस्राइल ने किसी भी हमले से बचने के लिए अपने हवाई सुरक्षा तंत्र को मजबूत कर लिया है। इस्राइल ने उन्नत आयरन डॉम वायु रक्षक तंत्र के परीक्षण को सफलतापूर्वक पूरा कर लिया है, जिसके बाद उसके एयर डिफेंस को मजबूती मिलेगी।


    Comments

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends