बीकानेर: ‘महाराजा गंगासिंह विश्वविद्यालय’ विद्युत उत्पादन में बनेगा आत्मनिर्भर

Medhaj News  |  World  |  13 Sep 17,15:17:23  |  
bikaner_uni.jpg

राजस्थान के बिकानेर का ‘महाराजा गंगासिंह विश्वविद्यालय’ राज्य का पहला ऐसा विश्वविद्यालय बनेगा, जो अपने लिए बिजली खुद बनाएगा। जी हां, विश्वविद्यालय में सोलर पैनल लगाने के लिए राजस्थान इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इंस्ट्रूमेंट्स लिमिटेड (रील) से बातचीत की है। इसी हफ्ते कंपनी और विश्वविद्यालय के बीच MOU होने के बाद अगले महीने से काम शुरू हो जाएगा।

बताया जा रहा है कि इस काम में लगभग दो या ढाई महीने का समय लगेगा। इस प्रोजेक्ट को पूरा होने के बाद विश्वविद्यालय विद्युत उत्पादन में पूरी तरह से आत्मनिर्भर हो जाएगा।

बताया जा रहा है कि सोलर प्लांट लगाने के बाद से विश्वविद्यालय को हर महीने लगभग 70 हजार रूपये की बचत होगी। अभी की बात करें, तो विश्वविद्यालय में बिजली का बिल लगभग डेढ़ लाख है।

महाराजा गंगा सिंह विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.भगीरथसिंह ने बताया कि विद्युत उत्पादन में विश्वविद्यालय को आत्मनिर्भर बनाने के लिए सोलर प्लांट लगाया जा रहा है। इसके लिए सभी औपचारिकताएं पूरी हो गई है। बोम से एक करोड़ रुपए की राशि भी स्वीकृत की जा चुकी है। कंपनी से एमओयू फाइनल होते ही अगले माहीने से काम शुरू हो जाएगा।

विश्वविद्यालय के मुख्यद्वार से परीक्षा भवन तक सोलर कॉरिडोर बनेगा। इस कॉरिडोर के नीचे छात्र आएंगे जाएंगे वहीं ऊपर बिजली बनेगी। 

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    loading...