Winter Olympics 2018 : 70km/h की रफ्तार से चल रही बर्फीली हवाओ ने शुरू नहीं होने दिए मुकाबले

medhaj news 13 Feb 18,18:06:44 World
olympics.jpg

70 किलोमीटर प्रतिघंटे की तेज रफ्तार से चल रही बर्फीली हवा ने मुकाबले को शुरू नहीं होने दिया। उधर अतंरराष्ट्रीय स्काई संघ ने कहा है कि उनके लिए खिलाड़ियों की सुरक्षा ज्यादा जरूरी है। अब ये मुकाबले गुरुवार को सुबह 9.30 और दोपहर 1.15 बजे से शुरू होंगे। सोमवार को जाएंट स्लोगोम मुकाबले में 80 स्कायर भाग लेने वाले थे। तेज हवा और खराब मौसम के बावजूद अमेरिका की जेमी एंडरसन ने खतरों से खेलते हुए महिलाओं के स्लोपस्टाईल स्नोबोर्ड प्रतियोगिता का स्वर्ण पदक हासिल किया। 27 वर्षीय जेमी ने 2014 के शीतकालीन ओलंपिक में भी स्वर्ण पदक जीता था और उस क्रम को उन्होंने प्योंगचांग में बरकरार रखा। उन्होंने 83.00 का स्कोर बनाया। इस वर्ग का रजत पदक कनाडा की लॉरी ब्लोइन ने हासिल किया जबकि कांस्य पर फिनलैंड की इनी रुकजार्वी ने कब्जा जमाया। वहीं कनाडा को पहला स्वर्ण पदक फिगर स्केटिंग में हासिल हुआ है। आइओसी के झंडे तले खेल रहे रूस को कनाडा ने 73 के मुकाबले 66 अंकों से पीछे छोड़कर स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया। इस वर्ग का कांस्य पदक अमेरिका को मिला जिन्होंने 62 अंक बटोरे। कनाडा की इस जीत में गैब्रियाल डेलमैन और पैट्रिक चान ने अहम भूमिका निभाई। 11 महीने पहले अपनी 17 हड्डियां तुड़वाने वाले कनाडा के मार्क मैकमॉरिस ने खेलों के दुनिया में एक अलग मिसाल पेश की। शीतकालीन ओलंपिक में रविवार को मैकमॉरिस ने पुरुषों के स्नोबोर्ड स्लोपस्टाइल में कांस्य पदक जीता।  सोमवार को उस मुकाबले को याद करते हुए मैकमॉरिस ने कहा कि उनका कांस्य पदक एक चमत्कार है और मैं भगवान का शुक्रगुजार हूं। अच्छी रेस के बाद दोबारा पोडियम पर खड़ा होना वाकई में खास है। उधर कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन टूडिउ ने भी मैकमॉरिस की दृढ़ता और साहस की तारीफ की है।



 


    Comments

    Leave a comment


    Similar Post You May Like