Breaking Newsशिक्षा

केंद्र ने ‘Study in India’ पोर्टल का शुभारंभ किया, अंतरराष्ट्रीय छात्रों की मदद के लिए।

केंद्र ने 'Study in India' पोर्टल का शुभारंभ किया, अंतरराष्ट्रीय छात्रों की मदद के लिए।

परिचय

भारतीय उच्चतर शिक्षा संस्थानों (HEIs) के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान करने वाली ‘Study in India’ पोर्टल एक विशेषकृत वेबसाइट है। शिक्षा मंत्रालय ने बुधवार को ‘Study in India’ (SII) पोर्टल का उद्घाटन किया है, जिसका उद्देश्य विदेशी छात्रों को भारतीय शिक्षा को बढ़ावा देना और भारत को एक वैश्विक शिक्षा केंद्र के रूप में पुनर्स्थापित करना है।

यूनियन शिक्षा, कौशल विकास और उद्यमिता मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और यूनियन विदेश मंत्री एस जयशंकर ने मिलकर पोर्टल का उद्घाटन नई दिल्ली में किया है। यह एक स्टॉप-समाधान प्लेटफ़ॉर्म है जो अंतरराष्ट्रीय छात्रों के शैक्षिक यात्रा को भारत में सरल बनाएगा।

भारतीय उच्च शिक्षा संस्थानों के बारे में विस्तृत जानकारी

  • संबंधित सुविधाएँ और शोध समर्थन के बारे में जानकारी
  • छात्र पंजीकरण और वीजा आवेदन प्रक्रिया के लिए एकीकृत एक स्टॉप समाधान
  • ग्रेजुएट (UG), पोस्ट ग्रेजुएट (PG), और डॉक्टरल स्तर के कार्यक्रमों का विवरण
  • योग, आयुर्वेद, क्लासिकल कला आदि के भारतीय ज्ञान प्रणाली के बारे में जानकारी

पोर्टल के लाभ

‘विदेशी छात्रों के लिए भारत में पढ़ाई करें’ पोर्टल का उद्देश्य विभिन्न पेशेवर पाठ्यक्रमों को विदेशी छात्रों के लिए सुलभ बनाना है और भारत को विदेशी छात्रों के लिए एक विश्वसनीय और विश्वस्तरीय शिक्षा हब बनाना है। इस पोर्टल के माध्यम से विदेशी छात्रों को भारतीय संस्कृति और शैली से अवगत होने का भी मौका मिलता है।

पोर्टल के उद्घाटन के अवसर पर, भारत में अध्ययनरत रूस, थाईलैंड, जापान, इथियोपिया, इक्वेडोर, कज़ाखस्तान और कोरिया गणराज्य से छात्र ने उपस्थित धिगनियों को अपने संस्कृतियों के तोहफे प्रदान किए।

भारत में विदेशी छात्रों के प्रति लाभ

विदेशी छात्रों की उपस्थिति का भारतीय दृष्टिकोन से कोई संदेह नहीं है कि यह घरेलू छात्रों के लाभ होगी। यह छात्रों को वैश्विकरण वाले दुनिया से ज्यादा करीब लाएगी और उन्हें वैश्विक कार्यस्थल के लिए बेहतर तरीके से तैयार करेगी।

अन्य देशों के छात्रों के साथ पढ़ने से उनकी संस्कृतियों, आदतों, परंपराओं और सोच की बेहतर समझ होती है। जब ऐसे छात्र अपने मूल समाजों में वापस जाते हैं, तो वे भारत के लिए खुशहाली के दूत बन जाते हैं, कभी-कभी इससे भी अधिक,” उन्होंने यह कहा।

अन्तिम शब्द

इस ‘Study in India’ पोर्टल के उद्घाटन से भारत विविधता से भरा एक वैश्विक शिक्षा केंद्र बनने की दिशा में एक और कदम बढ़ाया है। यह पोर्टल विदेशी छात्रों को अधिक से अधिक भारत में अध्ययन के लिए प्रोत्साहित करेगा और भारत की शिक्षा को विश्व में प्रतिष्ठित बनाने में मदद करेगा।

FAQs

  1. क्या है ‘Study in India’ पोर्टल का उद्देश्य? इसका उद्देश्य विदेशी छात्रों को भारतीय शिक्षा को बढ़ावा देना और भारत को एक वैश्विक शिक्षा केंद्र के रूप में पुनर्स्थापित करना है।

  2. कौन-कौन से देशों के छात्र ने धिगनियों से तोहफे प्रदान किए? रूस, थाईलैंड, जापान, इथियोपिया, इक्वेडोर, कज़ाखस्तान और कोरिया गणराज्य से छात्र ने धिगनियों से तोहफे प्रदान किए।

  3. क्या भारतीय छात्रों को विदेशी छात्रों की उपस्थिति से लाभ होगा? हां, भारतीय छात्रों को विदेशी छात्रों की उपस्थिति से लाभ होगी। यह उन्हें वैश्विकरण वाले दुनिया से ज्यादा करीब लाएगी और उन्हें वैश्विक कार्यस्थल के लिए बेहतर तरीके से तैयार करेगी।

  4. क्या पोर्टल के माध्यम से योग और आयुर्वेद के बारे में जानकारी मिलेगी? हां, पोर्टल के माध्यम से योग, आयुर्वेद, क्लासिकल कला आदि के भारतीय ज्ञान प्रणाली के बारे में जानकारी मिलेगी।

  5. विदेशी छात्रों के भारत में अध्ययन के पोर्टल के उद्घाटन से भारत को कैसे लाभ होगा? इससे भारत विदेशी छात्रों को अधिक से अधिक प्रोत्साहित कर सकेगा और भारत की शिक्षा को विश्व में प्रतिष्ठित बनाने में मदद करेगा। यह भारत को विश्व में एक विश्वसनीय और विश्वस्तरीय शिक्षा हब बनाने में सहायक होगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button