कोरोना के नियो वेरिएंट के संबंध में विश्व स्वास्थ्य संगठन ने दी ये जानकारी

ओमिक्रॉन वेरिएंट के बाद दुनिया भर में कोरोना वायरस का नया वेरिएंट नियो कोव सामने आया है। इस वेरिएंट को बेहद खतरनाक बताया गया है। इस वेरिएंट के संबंध में वैज्ञानिकों ने कहा कि ये वेरिएंट काफी अधिक संक्रामक है। इस वेरिएंट से संक्रमित तीन में से एक व्यक्ति की मौत होने का खतरा होता है।

नियो कोव दक्षिण अफ्रीका में आया सामने

इस वेरिएंट के संबंध में विश्व स्वास्थ्य संगठन ने बताया कि ये वायरस आमतौर पर दक्षिण अफ्रीका में चमगादड़ों में पाया जाता है। ये मनुष्यों के लिए काफी खतरनाक है। इस वेरिएंट के संबंध में अभी काफी रिसर्च और स्टडी करने की जरुरत है। 

जंगली जानवरों में है अधिक स्त्रोत

इस वेरिएंट के संबंध में कहा गया कि जंगली जानवर संक्रामक रोगों के अधिक स्त्रोत होते है। कोरोनविर्यूज अधिकतर जानवरों में पाए जाते है। इसमें चमगादड़ शामिल है। इन्हें प्राकृतिक जलाशये के तौर पर पहचान दी गई है। 

तीन में से एक संक्रमित की जा सकती है जान

इस वेरिएंट के संबंध में चीन के शोधकर्ताओं ने बताया कि इस वायरस से मृत्यु दर अधिक होगी। इसमें तीन में से एक संक्रमित व्यक्त की जान लेने की क्षमता है।

अबतक 35% की हुई मृत्यु

विश्व स्वास्थ्य संगठन की मानें तको MERS-cov के 35% मरीजों की मौत हो गई है। इसके मुख्य लक्षणों में बुखार, खांसी और सांस लेने में तकलीफ शामिल है। इसके अन्य लक्षण निमोनिया, जठरांत्र भी है। 

Exit mobile version