राज्य

खतरनाक नहीं कोरोना की तीसरी लहर, लेकिन सावधानी और सतर्कता बहुत आवश्यक: योगी आदित्यनाथ

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि देश-दुनिया मे सदी की सबसे बड़ी महामारी कोरोना के सफल प्रबंधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन व नेतृत्व में मिली कामयाबी की सर्वत्र सराहना हो रही है। जीवन के साथ जीविका को बचाने के इस भारतीय प्रबंधन को पूरी दुनिया ने सराहा है। आबादी के हिसाब से देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश ने सफल व प्रभावी कोरोना प्रबंधन में अग्रणी भूमिका निभाई है। महामारी के दौर में हरेक व्यक्ति के जीवन व उसकी जीविका की रक्षा करना हमारी पहली प्राथमिकता है। प्रदेश में कोविड की पहली और दूसरी लहर की भांति तीसरी लहर पर प्रभावी नियंत्रण पाया जा रहा है। 
सीएम योगी शनिवार को अलीगढ़ में पंडित दीनदयाल संयुक्त चिकित्सालय में कोविड प्रबंधन को लेकर की गई व्यवस्थाओं का निरीक्षण करने के बाद मीडियाकर्मियों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कोरोना का ओमिक्रोन वैरिएंट वाला थर्ड वेव खतरनाक नहीं है लेकिन सावधानी और सतर्कता बहुत आवश्यक है। थर्ड वेव में लक्षण सामान्य वायरल फीवर जैसे हैं और इसमें फेफड़ों पर भी सीधे प्रभाव नहीं पड़ रहा। संक्रमित तीसरे से पांचवें दिन तक नेगेटिव हो जा रहे हैं। जबकि सेकेंड वेव में मरीज के नेगेटिव होने में 15 दिन से 1 माह तक का समय लग जाता था। दूसरी लहर में संक्रमित व्यक्ति के फेफड़ों पर भी अधिक प्रभाव पड़ रहा था। 
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के अंदर और अलीगढ़ में भी कोरोना की तीसरी लहर मैं जो भी एक्टिव केस हैं उनमें से एक प्रतिशत से भी कम मामलों में हॉस्पिटलाइजेशन की जरूरत पड़ी है। जो संक्रमित अस्पतालों में हैं भही, उनकी स्थिति बहुत गंभीर नहीं है। ज्यादातर वही लोग अस्पताल में हैं, जिनके घरों में सेपरेट आइसोलेशन की सुविधा नहीं है। 
सीएम योगी ने कहा कि कोरोना से बचाव में सबसे बड़ी भूमिका वैक्सीन की है। पहली बार भारत में किसी महामारी पर स्वदेशी वैक्सीन बनाई गई, वह भी एक नहीं दो। इसका श्रेय पीएम मोदी को जाता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि देश में कोविड वैक्सीन की 160 करोड़ तथा यूपी में 24.54 करोड़ डोजेज दी जा चुकी हैं। अलीगढ़ में भी 32.77 लाख डोज लग चुकी है। फर्स्ट डोज 96 प्रतिशत तथा सेकेंड डोज 57 प्रतिशत लगाई जा चुकी है। इसके अलावा यहां 15 से 17 वर्ष आयुवर्ग के 2.57 लाख किशोरों का भी टीकाकरण हो गया है। साथ ही 66 प्रतिशत पात्र लोगों को प्री-कॉशन डोज दी गई है। इनकी संख्या 13783 है। 
मुख्यमंत्री ने वैक्सीन को कोविड के खिलाफ लड़ाई में सबसे बड़ा सुरक्षा कवच बताते हुए लोगों से अपील की कि जो लोग भी टीकाकरण से वंचित हैं, जल्द से जल्द टीका लगवा लें। जिन्होंने पहली डोज ले रखी है, वह दूसरी डोज ले लें। उन्होंने कहा कि कोरोना से भागने या डरने की नहीं बल्कि सतर्कता और सावधानी की जरूरत है। सीएम ने अपील की कि बुजुर्ग, बच्चे, गर्भवती महिलाएं, गम्भीर बीमारी से पीड़ित व कमजोर इम्यूनिटी के लोग अनावश्यक घरों से बाहर ना निकलें। हर व्यक्ति मास्क लगाए। कोविड प्रोटोकॉल  का पालन कर जीवन व जीविका बचाने के सरकार के अभियान में अपना योगदान दें। 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button