क्राइम

गाय को पहनाया वर्चुअल चशमा, एक दिन में बढ़ा दूध का उत्पादन

वर्चुअल रियलिटी का इस्तेमाल इंसानों को मनोरंजन के लिए काफी बार किया गया है। मगर तुर्की में एक अनोखा मामला देखने को मिला है। यहां एक किसान ने अपनी गायों को वर्चुअल रियलिटी गोगल्स पहनाए है। इन गॉगल्स को पहनाने के बाद कुछ चमत्कार सा हो गया है।

दरअसल इन चश्मों की मदद से वह गायों को यह महसूस करवाते हैं कि वे गर्मियों के मौसम में बाहर खुले मैदान में चरने गई हैं, जिसका गायों पर सकारात्मक प्रभाव दिखा है। खुले मैदान में घास चरने का अहसास मिलते ही गायों ने खुश होकर ज्यादा दूध देना शुरु कर दिया है।

चश्मा लगाने के बाद खुले मैदान में पहुंचती है गाय

बता दें कि तुर्की के अक्साराय में रहने वाले किसान इज्जत कोकाक ने अपनी गायों के साथ ये टेस्ट किया, जिसका परिणाम काफी अच्छा सामने आया। सर्दियों के मौसम में गायों को गर्मी का अहसास दिलाने के लिए उन्होंने गायों की आंखों पर वर्चुअल रियलिटी गॉगल्स लगा दिए। इन गॉगल्स की मदद से गायों को अहसास होता है कि वो सूरज की गर्मी में हरी हरी घास खा रही है और आजादी से घूम रही है, जबकि असलियत में ऐसा नहीं होता है।

गायों ने शुरु किया अधिक दूध देना

इस कदम के बाद से गायों के दूध उत्पादन की क्षमता में बढ़ोतरी हुई है। किसान का कहना है कि उन्हें एक रिसर्च से पता चला था कि हरा-भरा दृश्य और बाहरी आवाजें गायों को खुश करती हैं और वे अधिक दूध भी देती हैं। इसके बाद ही उन्हें वर्चुअल रिएलिटी गोगल्स का आइडिया आया। इस बदलाव का गायों पर सकारात्मक असर देखने को मिला और उन्होंने दूध का उत्पादन 22 लीटर से बढ़ाकर 27 लीटर प्रतिदिन कर दिया।

गाय के लिए बनाए खास गॉगल्स

गायों के लिए कोकाक को खास गॉगल्स बनवाने पड़े। इसलिए Krasnogorsk फार्म के पशु चिकित्सकों, सलाहकारों और डेवलपर्स उन्हें खास रूप से डिजाइन किया। डेवलपर्स ने VR को ना सिर्फ गाय के सिर के अनुसार ढाला, बल्कि वीआर हेडसेट के सॉफ्टवेयर में रंग पैलेट को भी बदला। क्योंकि गायों को लाल या हरा नहीं दिखाई देता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button