राज्य

बुन्देलखंड विश्वविद्यालय में 26वें दीक्षांत समारोह में राज्यपाल ने किया वर्चुअली प्रतिभाग

बुन्देलखंड विश्वविद्यालय में 26 वां दीक्षांत समारोह आयोजित हुआ जिसमें राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने वर्चुअली प्रतिभाग किया।इस मौके पर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कहा कि शिक्षा ही एक ऐसा हथियार है, जिससे किसी भी क्षेत्र में सफलता प्राप्त की जा सकती है। विद्यार्थी सर्वगुण सम्पन्न बनकर प्रदेश और देश के लिये महत्वपूर्ण योगदान करें। जीवन में विद्यार्थी का लक्ष्य स्पष्ट होना चाहिये और उस लक्ष्य की प्राप्ति के लिए निरन्तर प्रयास करते रहना चाहिए। कठिन परिश्रम, सहनशीलता, आत्मविश्वास और सकारात्मक सोच से बहुत कुछ हासिल किया जा सकता है। शिक्षा सिर्फ सटिर्फिकेट तक सीमित नहीं रहना चाहिए।
आपको समाज में जाकर अपनी योग्यता सिद्ध करनी होगी।समारोह के अवसर पर मुख्य अतिथि पद्मभूषण डॉक्टर विजय कुमार सारस्वत ने अपने कहा कि यह मेरी पहली यात्रा है और झांसी आना एक तरह का तीर्थ है। भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में झांसी की प्रसिद्ध रानी लक्ष्मीबाई की भूमिका को सदैव याद किया जाएगा। उन्होंने पदक प्राप्त एवं डिग्री प्राप्त छात्र-छात्राओं को बधाई देते हुए कहा कि आज झांसी को बुंदेलखंड विश्वविद्यालय के कारण भी जाना जाता है।कुलपति बुंदेलखंड विश्वविद्यालय ने कहा कि बुंदेलखंड विश्वविद्यालय उत्तर प्रदेश की अग्रणी विश्वविद्यालयों में परिगणित किया जाता है। 
07 जनपदों में फैले 350 से अधिक संबद्ध महाविद्यालयों के माध्यम से बुंदेलखंड विश्वविद्यालय दूर-दूर तक विस्तारित महाविद्यालयों के द्वारा आर्ट्स, साइंस, मैनेजमेंट, फॉरेंसिक साइंस, फार्मेसी, बायोमेडिकल आदि परंपरागत तथा नवीनतम युग की आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए ज्ञान के नए क्षेत्रों के उद्घाटक विषयों का सुंदर सम्मिश्रण अपने विद्यार्थियों तक पहुंचाने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वाह कर रहा है। इस अवसर पर मेयर रामतीर्थ सिंघल, मंडलायुक्त डॉ अजय शंकर पाण्डेय, कुलपति कृषि विश्वविद्यालय डॉ अरविंद कुमार, प्रोफेसर सी.बी. सिंह, प्रोफेसर आर.के. सैनी, प्रोफेसर प्रतीक अग्रवाल, डॉ राजीव अग्रवाल, डॉ एनसी साहू, डॉक्टर नीलम कुमार सिंह सहित अन्य गणमान्य अतिथि और छात्र-छात्राएं व अभिभावक उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button