राज्य

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का सपा पर हमला, जिन्ना के अनुयाई गन्ने की मिठास नहीं जानते

गोंडा| उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने समाजवादी पार्टी पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि जो लोग जिन्ना के अनुयायी है वो गन्ने की मिठास के बारे में कुछ नहीं जानते है। मुख्यमंत्री ने उपरोक्त बातें गोंडा के मौजपुर में बलरामपुर चीनी मिल परिसर में एशिया के सबसे बड़े एथेनाल प्लांट का उद्घाटन करते हुए कही।

सम्मेलन के दौरान वह समाजवादी पार्टी पर जमकर बरसे। उन्होंने कहा कि 2017 के पहले तो प्रदेश में ऐसी सरकार थी जो पर्व और त्योहारों पर दंगा करवा देती थी और अयोध्या में राम जन्मभूमि आतंकी हमला करने वाले आतंकियों के मुकदमों को वापस लेती थी। वह तो धन्यवाद है इलाहाबाद उच्च न्यायालय का, जिन्होंने प्रदेश सरकार की इस मंशा को पूरा नहीं होने दिया था। जो ये दंगाई हैं, जिन्ना के अनुयाई हैं, वो इस गन्ने की मिठास को क्या समझ पाएंगे?

उन्होंने कहा कि भाजपा की सरकार आई तो पर्व और त्यौहार शांतिपूर्ण ढंग से मनाए जाने लगे। आपके पर्व और त्योहारों के सामने तो अब कोरोना भी मात खा गया है। यह नए उत्तर प्रदेश की तस्वीर है। हमने प्रदेश को दंगा मुक्त प्रदेश बनाया। पिछले साढे 4 वर्षों में एक भी दंगा नहीं हुआ। आतंकवादियों को भाजपा सरकार ने उनकी मांद में घुसकर के मारा है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस, बबुआ, बुआ को तो पूरा मौका मिला था प्रदेश में कार्य करने का। पहले विकास के लिए नहीं काम होता था। इनके दोहरे चरित्र, इनके बहकावे में कभी मत आना। क्योंकि इन लोगों के बयानों से तो गिरगिट भी शरमा जाता है। अकेले गोंडा जनपद में हम लोगों ने विगत साढ़े चार वर्ष के अंदर 42,000 लोगों को प्रधानमंत्री आवास उपलब्ध कराए हैं।

योगी ने कहा कि अन्नदाता अपने खेत में गन्ने के साथ डीजल और पेट्रोल का भी उत्पादन करने जा रहा है। एथेनाल प्लांट लगेगा। उन्होंने जो पैसा पहले विदेशों में जाता था, अरब में जाता था, अब वह एथेनॉल उत्पादन के माध्यम से हमारे किसान की जेब में जाएगा। किसान खुशहाल होगा तो देश खुशहाल हो जाएगा। उन्होंने कहा कि इससे पहले पेट्रोल के नाम पर जो पैसा खर्च होता था, इसका एक छोटा सा हिस्सा भारत विरोधी गतिविधियों में कार्य करने वाले लेकर चले जाते थे। हमारा ही पैसा हमारे खिलाफ खर्च होता था।

मुख्यमंत्री ने कहा कि एथेनॉल प्लांट के शिलान्यास के साथ ही मैजापुर चीनी मिल की क्षमता को भी बढ़ाया जा रहा है और 15 मेगावाट की बिजली उत्पादन का नया संयंत्र लग रहा है। इसे यह पूरा क्षेत्र जगमगाएगा, रोजगार की संभावनाएं बनेंगी।

आज चीनी मिल समय पर भुगतान कर रही हैं। साथ ही गेहूं, धान, दलहन, तिलहन के क्रय केंद्र भी स्थापित किए गए हैं। अकेले गोंडा जनपद में ही 92,000 क्विंटल से अधिक गेंहू की खरीद हुई है। एमएसपी किसान के खाते में सीधे गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button