विशेष खबर

सिर्फ भारतीय सेना ही नहीं बल्कि विदेशी सेना भी ले चुकी है गणतंत्र दिवस परेड में हिस्सा

गणतंत्र दिवस पर हर वर्ष ऐतिहासिक और देश का गौरव बढ़ाने वाली परेड निकली जाती है। इस परेड में देश के राज्यों की झांकियों के साथ सेना की टुकड़ियां भी अपने दस्तों के साथ मार्च करती है, जिन्हें देखकर हर भारतवासी का सीना गर्व से चौड़ा हो जाता है।

मगर भारत की गणतंत्र दिवस परेड में कई बार विदेशी सैनिकों ने भी मार्च किया है। सबसे पहले वर्ष 2016 में फ्रांस के सैनिकों के एक दस्ते को शामिल किया गया। ये पहला मौका था जब किसी विदेशी सैन्य टुकड़ी ने परेड में हिस्सा लिया था।

इस फ्रांसिसी दस्ते की अगुवाई लेफ्टिनेंट कर्नल पॉल बरी ने की थी। फ्रांस के 76 सैनिकों का यह दस्ता उस देश के सबसे पुराने रेजिमेंटों में से एक है। राजपथ पर फ्रांस का दस्ता जब मार्च पास्ट करता हुआ गुजर रहा था तब सलामी मंच पर फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद मौजूद थे जो इस समारोह में मुख्य अतिथि थे।

वर्ष 1604 में हुआ था गठन

परेड में हिस्सा लेने वाला फ्रांस का दस्ता 35वें इंफैट्री रेजिमेंट का है जिसके 1604 में फ्रांस के लॉरेन में गठन हुआ था। इसे अब तक 12 युद्धक सम्मान मिल चुके हैं। वर्ष 2016 में फ्रांस के राष्ट्रपति पांचवी बार गणतंत्र समारोह में मुख्य अतिथि बने थे।

यूएई की सैन्य टुकड़ी भी हे चुकी है हिस्सा


वर्ष 2017 में संयुक्त अरब अमीरात के 149 सदस्यीय सैन्य दलों की टुकडी भी भारत की गणतंत्र दिवस परेड का हिस्सा बन चुकी है। इस दल में राष्ट्रपति गार्ड, वायु सेना, नौसेना, थल सेना के 149 सैनिकों और 35 संगीतकारों ने हिस्सा लिया था। इस वर्ष गणतंत्र दिवस के मुख्य अतिथि के तौर पर अबू धाबी के राजकुमार मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान ने हिस्सा लिया था।

2021 में शामिल हुई थी बांग्लादेशी सेना

बांग्लादेश सैन्य बलों की 122 टुकड़ी के जवान भी बीते वर्ष गणतंत्र दिवस की परेड में शामिल हुए थे। इसके कमांडिंग ऑफिसर कमांडर लेफ्टिनेंट कर्नल अबु मोहम्मद शाहनूर शॉनोन थे। बांग्लादेश की ये सैन्य टुकड़ी वर्ष 1971 में बांग्लादेश को आजाद कराने वाली यूनिट के सैनिक भी शामिल थे। 

बांग्लादेश सशस्त्र बलों की तीनों सेनाओं ने 1971 के बांग्लादेश मुक्ति युद्ध में अपने देश के लिए स्वतंत्रता हासिल करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। बटालियन 1,2,3,4,8,9 , 10 और 11 ईस्ट बंगाल रेजिमेंट और 1,2 3 फील्ड रेजिमेंट आर्टिलरी ने लिबरेशन युद्ध में भाग लिया था जिसके सैनिक बीते वर्ष की परेड में मार्च में हिस्सा लिया था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button