उत्तर प्रदेश / यूपीक्राइमराज्य

एक महिला डायरेक्टर ने 3 फर्जी कंपनियां बनाकर ठगी करते हुए 100 करोड़ रुपये लूटे, यूपी, बिहार, पंजाब में 25 केस दर्ज, पुलिस ने किया गिरफ्तार

लखनऊ, रविवार को लखनऊ पुलिस ने शातिर महिला डायरेक्टर नीलम वर्मा को गिरफ्तार किया है। इनका अपराध था हेलो राइड कंपनी के जरिए लोगों से 100 करोड़ रुपये की ठगी करना। नीलम वर्मा 4 साल से फरार थी और उनके खिलाफ यूपी, पंजाब, बिहार में 25 केस दर्ज थे। पुलिस ने उसे जब भी घेरा वो रिश्वत देकर बचने का प्रयास कर बच निकलती थी। पुलिस ने उसे पकड़ने के लिए 25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया। नीलम के गिरफ्तार होने के बाद, उनकी साथी जो अभी भी फरार है, की तलाश जारी है।

स्कीम में करोड़ों रुपये का इन्वेस्टमेंट कराने के बाद दफ्तर बंद किए

नीलम वर्मा ने एक शातिर स्कीम चलाकर तीन कंपनियां बनाई थीं। उनकी बनाई गई कंपनियों के नाम थे हेलोराइड लिमिटेड, इनफिनिटी वर्ड इंफ्रावेंचर लिमिटेड और ओजोन इनफिनिटी एग्रो प्रोड्यूसर लिमिटेड। उसने अपने साथियो के साथ मिलकर इन कंपनियों में लोगों से इन्वेस्टमेंट करवाया और उन्हें दोगुना वापसी का लालच दिया। लेकिन इन्वेस्ट किए गए पैसे के बाद कंपनियों के दफ्तर बंद हो जाते थे और ये सारा कारोबार एक धोखाधड़ी का साबित हुआ।

बाइक टैक्सी की आड़ में भी करोड़ों रुपये इकट्ठे किए

2018 में नीलम वर्मा का नाम हेलो राइड कंपनी से जुड़ा था, जिसके जरिए उन्होंने लोगों को बाइक टैक्सी चलाने के नाम पर 61 हजार रुपये जमा कराए थे। इसके बदले में उन्होंने हर महीने 9582 रुपये वादा किया था। इस चक्कर में ज्यादातर टैक्सी ड्राइवर और बेरोजगार युवा फस गए थे। लोगों से स्कीम में फंड इन्वेस्ट कराने के बाद हेलो राइड कंपनी का दफ्तर बंद हो गया था।

जांच और आरोपियों के साथी की तलाश जारी

नीलम के गिरफ्तार होने के बाद, पुलिस ने उसके अन्य साथी जो अभी भी फरार है, उनकी तलाश जारी रखी है। पुलिस जांच के दौरान नीलम ने एक विवेचक के साथ रिश्वत देने का प्रकरण स्वीकारा है। इसके आधार पर अन्य साक्ष्यों के बारे में जाँच जारी है।

एसटीएफ के डिप्टी एसपी लाल प्रताप सिंह ने बताया है कि नीलम को पारा थाना क्षेत्र स्थित मानक नगर से गिरफ्तार किया गया है। इनका अपराध है मल्टीलेवल मार्केटिंग से जनता से लूट करना। जांच के आधार पर पूर्व विवेचना करने वालों की लिस्ट तैयार कर कार्रवाई की जा सकती है।

नीलम वर्मा के गिरफ्तार होने से यूपी, पंजाब, बिहार में 25 मामले सामने आए हैं और वे अभी सभी मामलों में नामजद आरोपी हैं। उनके साथी की तलाश जारी है और वारंटी जारी होने की संभावना है।

read more…जयपुर-मुंबई एक्सप्रेस फायरिंग: आरपीएफ के जवान ने सुबह सुबह ट्रेन में चलायी गोली , चार लोगों की ली जान, वजह आपको भी कर देंगी हैरान

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button