दुनिया

भारत-चीन सीमा पर भारत ने तैयार किए हजारों सैनिक, 100 टैंक और…रिपोर्ट में हुआ खुलासा

जैसे ही देश स्वतंत्रता दिवस मनाने की तैयारी कर रहा है, भारत-चीन सीमा पर उत्साह है। 14 अगस्त एक महत्वपूर्ण दिन है। क्योंकि, भारत और चीन के बीच सोमवार को चुशुल मोल्डो में 19वें दौर की बातचीत होगी। गलवान घाटी विवाद के बाद जून 2020 से सीमा पर तनाव है और दोनों देश बातचीत के जरिए तनाव को सुलझाने की कोशिश कर रहे हैं। लेकिन, स्थिति आज तक सामान्य नहीं हो पाई है, ऐसे में चर्चा से कोई अच्छा रास्ता निकलने की उम्मीद है।

इस बातचीत से पहले सीमा पर हालात को लेकर अहम जानकारी भी सामने आई है। जून 2020 से अब तक भारत ने चीन से लगी सीमा पर निगरानी काफी बढ़ा दी है, इतना ही नहीं भारत ने देश के अलग-अलग हिस्सों से करीब 68 हजार सैनिक, 100 टैंक और अन्य अहम हथियार सीमा पर लाये हैं। वायुसेना की मदद से सभी को उड़ाया गया, ताकि जरूरत पड़ने पर चीन पर जवाबी कार्रवाई की जा सके।

वायुसेना ने सीमा पर निगरानी के लिए सुखोई-30 से लेकर जगुआर तक विमान तैनात किए थे। इसके अलावा सीमा पर निगरानी के लिए ड्रोन का इस्तेमाल किया गया। 15 जून 2020 को लद्दाख की गलवान घाटी में भारत और चीन के बीच तनाव पैदा हो गया, जिसमें 20 भारतीय सैनिक शहीद हो गए, जबकि चीनी सेना को भी भारी नुकसान हुआ। इसके बाद सीमा पर हालात काफी खराब हो गए थे और कई बार हालात युद्ध की ओर जाते दिखे थे।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, सीमा पर हालात बिगड़े और जैसे ही चीन ने एलएसी के पार अपनी सेनाएं जमा करना शुरू किया, भारत ने भी तेजी से कार्रवाई शुरू कर दी। इसी वजह से वायुसेना के जरिए सैनिकों और हथियारों को पहुंचाया गया, ताकि सारी तैयारियां की जा सकें. इसमें 68 हजार सैनिक, 90 टैंक, 330 बीएमपी पैदल सेना, रडार सिस्टम, तोपखाना और अन्य जरूरी हथियार सीमा पर पहुंचाए गए। वायु सेना के सुपर हरक्यूलिस, ग्लोबमास्टर के माध्यम से 9000 टन माल पहुंचाया गया।

चीन के साथ चल रहे तनाव के बीच भारत पहले से ही एलएसी पर अपनी गतिविधियां तेज कर रहा है। भारत ने भी चीन को कड़ा जवाब देने के लिए लद्दाख के आसपास के इलाकों में निर्माण कार्य तेज कर दिया है। अकेले सैन्य स्तर पर भारत-चीन के बीच अब तक 18 दौर की बातचीत हो चुकी है, जिसका लक्ष्य सीमा से सेना को पूरी तरह से हटाना है, लेकिन यह अब तक संभव नहीं हो सका है।

Read more….मतदान की संभावना का सामना करने में असमर्थ विपक्ष अपना प्रस्ताव बीच में छोड़ पीछे हटी-मेधज़ न्यूज़

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button