खेल

एशियन रिकॉर्ड तोड़ने वाली रिले टीम फाइनल में चूकी, अमेरिका ने जीता गोल्ड

World Athletic Championships

विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचने वाली भारतीय रिले टीम 5वें नंबर पर रही। बता दें कि रिले टीम ने फाइनल के लिए क्वालीफाई करने से पहले एशियन रिकॉर्ड तोड़ा था।

भारतीय टीम की उपलब्धियां

  • भारतीय रिले टीम ने फाइनल में 2 मिनट 59.92 सेकंड का समय निकाला।
  • भारत ने पहली हीट में अमेरिका को पछाड़ा और दूसरे स्थान पर रहा।
  • एशियाई रिकॉर्ड को भी तोड़ा.

दुनियाभर के टॉप एथलीट इस वक्त वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप में एक-दूसरे का सामना कर रहे हैं। इस प्रतियोगिता से सोमवार की सुबह भारत के लिए एक बड़ी खुशखबरी सामने आई, जब नीरज चोपड़ा जैवलिन थ्रो में गोल्ड मेडल जीतने में कामयाब रहे। इतना ही नहीं इस चैंपियनशिप में भारत की चार गुणा 400 मीटर की रिले टीम एशियन रिकॉर्ड तोड़ते हुए फाइनल तक पहुंची थी। लेकिन वहां टीम मेडल जीतने से चूक गई।

भारतीय टीम का प्रयास

एशियन रिकॉर्ड तोड़ते हुए पहली बार वर्ल्ड चैंपियनशिप के फाइनल के लिए क्वालीफाई करने वाली भारत की पुरुष चार गुणा 400 मीटर रिले टीम फाइनल में पांचवें स्थान पर रही। भारत के मोहम्मद अनस याहिया, अमोज जैकब, मोहम्मद अजमल वारियाथोडी और राजेश रमेश की चौकड़ी ने फाइनल में 2 मिनट 59.92 सेकंड का समय निकाला।

प्रतियोगिता का परिणाम

अमेरिकी टीम को स्वर्ण, फ्रांस को रजत और ब्रिटेन को कांस्य पदक मिला जबकि जमैका की टीम चौथे स्थान पर रही। इससे पहले भारतीय टीम ने शनिवार को पहली ही हीट (क्वालीफाईंग रेस) में अमेरिका (2:58.47) के बाद दूसरा स्थान हासिल कर फाइनल में जगह बनाई थी।

रिकॉर्ड का टूटना

हाल ही में, भारतीय चौकड़ी टीम ने एक ऐतिहासिक क्षण बनाया है जब उन्होंने जापान के रिकॉर्ड को तोड़ दिया। यह घटना चौंकाने वाली है और इसने भारत के खेलों को नई ऊंचाई दिलाया है। यह रिकॉर्ड तोड़ने का उत्साह और जोश था जो भारतीय चौकड़ी टीम के खिलाड़ियों ने प्रदर्शित किया। प्रत्येक दो हीट में शीर्ष तीन पर रहने वाली और अगली दो सबसे तेज रहने वाली चौकड़ी ही फाइनल में पहुंचती हैं, और भारत ने यहां भी अपना दम दिखाया। पहले, एशियाई रिकॉर्ड 2 मिनट 59.51 सेकेंड का था, जो जापान की टीम के नाम था। लेकिन भारतीय टीम ने 59.05 सेकंड के अंतर से इस रिकॉर्ड को तोड़ दिया। इससे पहले, राष्ट्रीय रिकॉर्ड 2021 में 3:00.25 के समय से बना था, और भारतीय खिलाड़ियों ने विश्व रिकॉर्डधारी अमेरिकी चौकड़ी को कड़ी चुनौती दी और उनके करीब दूसरे स्थान पर रही थी।इस तरह, भारत दो हीट में अमेरिका के बाद दूसरे स्थान पर रहा और वह मजबूत ब्रिटेन (2:59.42) और जमैका (2:59.82) से आगे रहा, जिन्होंने क्रमश: तीसरा और पांचवां स्थान हासिल किया।

समापन

इस महत्वपूर्ण प्रदर्शन से हमने देखा कि भारतीय चौकड़ी टीम किसी भी चुनौती का सामना करने के लिए तैयार है और हमारे खिलाड़ियों का योगदान खेल जगत में महत्वपूर्ण है। हमारी टीम को बधाई और शुभकामनाएँ, और हम आशा करते हैं कि वे आगे भी ऐसे ही मनोरंजन और गर्व का स्रोत बनाएंगे।

Read more….Javelin Throw में विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप में स्वर्ण जीतने वाले पहले भारतीय बने नीरज चोपड़ा, रचा इतिहास

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button