राज्यउत्तर प्रदेश / यूपी

आजादी के अमृतकाल के समाप्ति पर भारत को नया भारत बनाने का संकल्प लें – जयवीर सिंह

उत्तर प्रदेश के पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री जयवीर सिंह कल ’’अगस्त क्रांति’’ दिवस ’काकोरी ट्रेन एक्शन डे’ विश्व आदिवासी दिवस तथा कम्युनिटी रेडियो जयघोष के एक वर्ष पूरा होने पर बधाई देते हुए कहा कि आज का दिन शहीदों को नमन करते हुए उनके सपने को साकार करने का दिन है। देशभक्ति की भावना से ओतप्रोत होकर सभी देशवासियों को एक नया भारत बनाने का संकल्प लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि शहीदों के सपनों को साकार करने की जिम्मेदारी आज की पीढ़ी पर है। इसलिए सभी को एकजुट होकर देश निर्माण में जुट जाना चाहिए।

Image

संस्कृति मंत्री कल संगीत नाटक अकादमी के सभागार में अमृत रथ यात्रा के शुभारम्भ तथा रेडियो जयघोष के एक वर्ष पूरा होने के अवसर पर उपस्थित जनसमुदाय को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री एवं प्रदेश के मुख्यमंत्री का संकल्प है कि आजादी के अमृतकाल की समाप्ति पर एक नया भारत बनाने का सपना साकार हो और एक ऐसा भारत जो विश्व को राह दिखा सके।

मंत्री जयवीर सिंह ने कहा कि अगले 25 वर्षों में हर भारतीय को निष्ठा पूर्वक संकल्प लेना चाहिए कि हम सब सामाजिक समरसता एवं भाईचारे की भावना को मजबूत करते हुए भारत को एक विकसित भारत बनायेंगे। भारत की क्षमता अलौकिक है। यह पूरी दुनिया को राह दिखा सकता है। कोरोना काल में भारत ने अपनी क्षमता दिखाकर स्वदेशी वैक्सीन बनाकर अपनों की जान बचाई तथा विश्व के लोगों की भी जान बचाई। उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री ने इसी सफलता के आधार पर ’’जय जवान, जय किसान, जय विज्ञान’’ के नारे को आगे बढ़ाते हुए ’’जय अनुसंधान’’ को जोड़ दिया।

Image

पर्यटन मंत्री ने कहा कि पूरे विश्व के विकसित देशों को आगे बढ़ाने में भारतीयों का ही योगदान है। आज के दौर में जो नई तकनीकी विकसित हुई है, उसके पीछे हर भारतीय की क्षमता एवं मेहनत है। उन्होंने कहा कि इसी क्षमता का उपयोग कर हम भारत को विकसित राष्ट्र बनायें, यही देश के शहीदों के प्रति सच्ची श्रद्धांजली होगी। उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री के नेतृत्व में आज भारत की अर्थव्यवस्था ब्रिटेन को पीछे छोड़ते हुए तीसरे नम्बर की अर्थव्यवस्था बनने की ओर अग्रसर है। उन्होंने कहा कि हमे अपनी विरासत पर गर्व है। प्रधानमंत्री ने संकल्प लिया है कि गुलामी के सभी चिन्हों को समाप्त कर अपने विरासत को आगे बढ़ाया जाए।

मंत्री जयवीर सिंह ने इस मौके पर संगीत नाटक अकादमी परिसर से अमृत रथ यात्रा की तीन बसों को हरी झंडी दिखाकर प्रदेश के विभिन्न जनपदों के लिए रवाना किया। यह अमृत रथ यात्रा आजादी की अलख जगाने तथा लोक संस्कृति परम्परा को आमजन मानस में संचित रखने के लिए शुरू की गयी है। उन्होंने विश्व आदिवासी दिवस को रेखांकित करते हुए कहा कि आदिवासियों ने जल, जंगल और जमीन को बचाने के साथ ही भारत की प्राचीन विरासत को सहेजने में महत्वपूर्ण योगदान दिया। उन्हांेने कहा कि मा0 प्रधानमंत्री जी ने मेरी माटी मेरा देश कार्यक्रम का शुभारम्भ किया है। 09 से 15 अगस्त तक शहरी एवं ग्रामीण आबादी को इस कार्यक्रम से जोड़ते हुए शहीदों को नमन किया जायेगा और 13 से 15 अगस्त तक हर घर तिरंगा लहराया जायेगा। उन्होंने इस अवसर पर उपस्थित जनसमुदाय को आजादी के अमृतकाल की पंचप्रण की शपथ दिलाई।

इस अवसर पर पर्यटन एवं संस्कृति विभाग के प्रमुख सचिव मुकेश मेश्राम ने स्वतंत्रता संग्राम में काकोरी एक्शन डे के महत्व पर विस्तार से प्रकाश डाला। इसके अलावा अन्तर्राष्ट्रीय दिवस के योगदान को भी सराहा। उन्होंने रेडियो जयघोष द्वारा संचालित विभिन्न गतिविधियों की सराहना की। कार्यक्रम की शुरूआत में संस्कृति विभाग के सहायक निदेशक अमित अग्निहोत्री ने रेडियो जयघोष की एक वर्ष की विकास यात्रा पर प्रकाश डाला। भारतेन्दु नाट्य अकादमी के कलाकारों ने प्रेरक देशभक्ति गीत प्रस्तुत किया तथा कथक केन्द्र के कलाकारों ने भी मनोहारी प्रस्तुती दी। लोक एवं जनजातीय संस्थान के निदेशक अतुल द्विवेदी ने संपादित हुए सभी कार्यक्रमों के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

इस अवसर पर भातखंडे विश्वविद्यालय की कुलपति मांडवी सिंह, रजिस्टार सृष्टि धवन, रेनू रंग भारती, संस्कृति विभाग के अधीन सभी इकाइयों के प्रमुख अन्तर्राष्ट्रीय डेल्फिक एसोसिएशन के अध्यक्ष रमेश प्रसन्ना के अलावा सुधा बाजपेयी, बीएनए के निदेशक दिनेश खन्ना समेत बड़ी संख्या में कलाकार तथा गणमान्य लोग मौजूद थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button