कोरोना वैक्सीन अब बहुत दूर नहीं, भारत में वैक्सीन बांटने की तैयारी पूरी?

Medhaj News 22 Nov 20 , 10:50:39 India Viewed : 3273 Times
vaccine.png

कोरोना (Coronavirus) संक्रमण के खिलाफ स्वदेशी वैक्सीन की उम्मीद बढ़ गई है | कोरोना वायरस के खिलाफ देश की पूर्ण स्वदेशी वैक्सीन (Vaccine Trial) के तीसरे चरण का ट्रायल देश में चल रहा है | इसी के साथ तैयार हो रही है वैक्सीन बांटने की रणनीति | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी वैक्सीन को लेकर उच्चस्तरीय बैठक कर चुके हैं जिसमें वैक्सीन के डिस्ट्रीब्यूशन से लेकर उसके स्टोरेज तक की रणनीति तैयार की गई | शुक्रवार को वैक्सीन ट्रायल के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने खुद पर वैक्सीन (Vaccine) ट्रायल करवाया | अब देश को बस नए साल का इंतजार करना है, जब भारत को कोरोना (Coronavirus) को हराने वाली स्वदेशी वैक्सीन मिल जाएगी | 

कोवैक्सीन (COVAXIN) का निर्माण भारत बायोटेक-ICMR और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी मिलकर कर रहे हैं | कोवैक्सीन तीसरे चरण के ट्रायल में है | देश के 22 सेंटर पर वैक्सीन के तीसरे फेज का ट्रायल हो रहा है, जिसमें करीब 26 हजार वॉलेंटियर शामिल हो रहे हैं | कोवैक्सीन के पहले दो चरण में 1000 लोगों पर वैक्सीन का ट्रायल किया गया था | पहले दो फेज में शामिल वॉलंटियर्स में वैक्सीन का कोई साइड इफेक्ट नहीं दिखा था | जिससे उम्मीद जताई जा रही है कि तीसरे फेज का ट्रायल भी कामयाब होगा | कोवैक्सीन का ये तीसरा और फाइनल ट्रायल है | इसी ट्रायल में साफ हो जाएगा कि कोवैक्सीन को आप तक पहुंचने में कितना वक्त लगेगा | तीसरे फेज में जो भी वॉलंटियर्स वैक्सीन लगवा रहे हैं उन्हें 28 दिन बाद दूसरी डोज लगवानी होगी | वैक्सीन का पहला डोज लगने के 42 दिन बाद वॉलंटियर्स का ब्लड टेस्ट किया जाएगा | 

डॉक्टरों के मुताबिक शुरुआती 600 लोगों का ब्लड टेस्ट किया जाएगा | अगर ब्लड टेस्ट की रिपोर्ट सामान्य रही तो फिर वैक्सीन सफल मानी जाएगी जिसके बाद सरकार और ड्रग कंट्रोलर से वैक्सीन की मंजूरी मिल जाएगी | डॉक्टरों के मुताबिक जनवरी-फरवरी तक भारत में कोरोना को लॉक करने के लिए वैक्सीन पूरी तरह तैयार होगी | यानी आपके लिए अब बस सब्र के कुछ ही महीने हैं, क्योंकि उसके बाद कोरोना का अंत मुमकिन हो सकेगा | वैक्सीन के लिए केंद्र सरकार रणनीति तैयार कर रही है, तो वहीं देश के Airports को भी वैक्सीन डिस्ट्रीब्यूशन के लिए तैयार किया जा रहा है | सबसे पहले बात दिल्ली एयरपोर्ट की करते हैं | यहां तापमान नियंत्रण वाले दो कार्गो टर्मिनल हैं | साथ ही माइनस 20 डिग्री तापमान वाला कार्गो टर्मिनल है | कार्गो टर्मिनल पर आने जाने के लिए अलग दरवाजे हैं | इसके अलावा हैदराबाद एयरपोर्ट पर भी तापमान नियंत्रण वाला कार्गो टर्मिनल मौजूद है | इस एयरपोर्ट पर माइनस 20 डिग्री तापमान वाला कार्गो टर्मिनल भी है | 

वैक्सीन बनाने की रेस में भारत दुनिया के विकसित देशों से कहीं भी पीछे नहीं है | देश में अभी 5 कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) का ट्रायल चल रहा है |  ये सभी वैक्सीन ट्रायल के अलग-अलग चरणों में हैं | इनमें से दो वैक्सीन का ट्रायल आखिरी स्टेज में पहुंच चुका है |  भारत बायोटेक-ICMR और इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी की वैक्सीन COVAXINE तीसरे चरण के ट्रायल में है | ये पूर्ण रूप से स्वदेशी वैक्सीन है | मल्टीनेशनल फार्मा कंपनी Zydus Cadila की कोरोना वैक्सीन ZyCov-D का ट्रायल दूसरे चरण में है | इसके तीसरे चरण का ट्रायल अभी बाकी है | 


    5
    0

    Comments

    • Ok

      Commented by :Aslam
      22-11-2020 20:48:53

    • Ok

      Commented by :Aslam
      22-11-2020 20:44:43

    • Good

      Commented by :Rinku Ansari
      22-11-2020 19:27:40

    • Ok

      Commented by :Gaurav Lohani
      22-11-2020 11:54:44

    • Good

      Commented by :Saddam husain
      22-11-2020 10:59:07

    • Load More

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends

    Special Story