ऊंची पहाड़ियों पर हुई जमकर बर्फबारी, मैदानी इलाकों में ठंडक बढ़ी

MEDHAJNEWS 23 Nov 20 , 19:05:29 India Viewed : 3216 Times
6.92.jpg

देहरादून: उत्तराखंड में सोमवार को एक बार फिर मौसम ने करवट बदल ली। पर्वतीय क्षेत्रों में बर्फबारी और बारिश के कारण मैदानी क्षेत्रों व अन्य जिलों में भी ठंडी हवाएं चलने से ठंड बढ़ गई है। प्रदेश के विभिन्न जिलों में पर्वतीय और मैदानी जिलों में बादल छाए हैं। वहीं, चारधाम सहित ऊंची पहाड़ियों में बर्फबारी हो रही है। बदरीनाथ की पहाड़ियों समेत ऊंचाई वाले इलाकों में हिमपात जारी है। बर्फबारी के बाद जिले में ठंड बढ़ गई है। जिले की औली, गोरसों सहित हेमकुंड साहिब में भी बर्फबारी हुई है, जबकि नन्दादेवी कामेट में भारी हिमपात जारी है। 



जानकारी के लिए आपको बता दे कि मौसम विभाग ने चार से पांच जिलों में अगले 24 नवंबर से चार-पांच दिनों तक बारिश और बर्फबारी की आशंका है। जबकि मैदानी क्षेत्रों में सूखी ठंड में बढ़ोतरी हो सकती है। नवंबर महीने में अभी तक प्रदेश में अधिकांश जगह सूखी ठंड पड़ रही है। हालांकि दीपावली के बाद एक-दो दिन केदारनाथ, बदरीनाथ की तरह अन्य ऊंचे इलाकों में बर्फबारी हुई। जबकि बाकी इलाकों में बारिश हुई। मगर इसके बाद से मौसम शुष्क बना हुआ है। 



याद रहे कि बदरीनाथ के नर नारायण और नीलकंठ की पहाड़ियों  के साथ ही बदरीनाथ धाम में  हिमपात हुआ है। सोमवार को बदले मौसम के तहत रुद्रनाथ, नन्दा देवी, नन्दा घुंघटी आदि ऊंची पहाड़ियों में जोरदार हिमपात जारी है। स्थानीय ब्यवस्यायी नागेन्द्र सकलानी ने बताया अभी हल्का हिमपात जारी है। मौसम ऐसा ही रहा तो बर्फ अधिक गिरने की सम्भावना है। बताया गुजरात समेत अन्य राज्यों के पर्यटक यहां पहुंचे हैं। मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह के अनुसार, 23 नवंबर को उत्तरकाशी, चमोली और रुद्रप्रयाग जिलों में कहीं-कहीं विशेषकर ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बारिश या बर्फबारी हो सकती है।



23 और 25 नवंबर को पिथौरागढ़, बागेश्वर, उत्तरकाशी, चमोली और रुद्रप्रयाग जिलों में कुछ स्थानों में बहुत हल्की बारिश या हिमपात होने की संभावना है। जबकि राज्य के शेष जिलों में मौसम शुष्क बना रहेगा। 24 नवंबर को चमोली, पिथौरागढ़, उत्तरकाशी और रुद्रप्रयाग जिलों में कहीं-कहीं विशेषकर ऊंचाई वाले क्षेत्रों में हल्की बारिश या बर्फबारी होने की संभावना है। 26 नवंबर के बाद भी अगले दो-तीन दिनों में मौसम में परिवर्तन के आसार कम हैं।



उत्तरकाशी जिले में गंगोत्री-यमुनोत्री धाम सहित हर्षिल, मुखबा, धराली, सुक्की खरसाली, जानकी चट्टी, हरकीदून, सांकरी आदि ऊंचाई वाली पहाड़ियों पर एक बार फिर बर्फबारी हुई है। इसके चलते जिला मुख्यालय उत्तरकाशी व आसपास के क्षेत्रों में ठंड बढ़ गई है। जिससे लोगों का जनजीवन एक बार फिर प्रभावित हो गया है। सोमवार सुबह मौसम ने अचानक करवट बदल ली और आसमान में घने काले बादल छाए रहे। जबकि गंगोत्री व यमुनोत्री धाम सहित ऊंची वाली पहाड़ियों पर हल्की बारिश के साथ बर्फबारी का सिलसिला शुरू हो गया।



इसके चलते गंगोत्री, हर्षिल, मुखबा, धराली, सुक्की टॉप व यमुना घाटी के यमुनोत्री, खरसाली, जानकी चट्टी, सहित मोरी क्षेत्र के हरकीदून, सांकरी, जखोल, तालुका व अन्य ऊंचाई वाले क्षेत्रों में जमकर हिमपात हुआ है। वहीं दूसरी ओर निचले क्षेत्रों में हल्की बूंदाबांदी के चलते जिला मुख्यालय उत्तरकाशी, भटवाड़ी, डुंडा सहित बड़कोट व उसके आसपास के क्षेत्र में  ठंड लौट आई है। जिससे स्थानीय लोगों का जन जीवन प्रभावित हो गया है।  मौसम के बदलते मिजाज को लेकर लोगों की दैनिक दिनचर्या भी प्रभावित हो गई है।



गंगोत्री धाम के तीर्थ पुरोहित सुधांसु सेमवाल ने बताया कि गंगा घाटी के गंगोत्री, हर्षिल, मुखबा व धराली क्षेत्र में सुबह आठ बजे से बारिश व बर्फबारी का सिलसिला जारी है। वहीं यमुनोत्री धाम के रावल पवन सेमवाल ने कहा कि यमुना घाटी के यमुनोत्री धाम, खरसाली व जानकी चट्टी में एक बार फिर हिमपात हुआ है। 



 


    0
    0

    Comments

    • Ok

      Commented by :Aslam
      23-11-2020 22:20:16

    • Ok

      Commented by :Shaban
      23-11-2020 20:08:14

    • Load More

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends

    Special Story