दिल्ली में कब होगी बारिश, मौसम विभाग ने बताया

Medhaj News 2 Jul 20 , 14:48:37 India Viewed : 1577 Times
barish.png

दिल्ली-NCR में गर्मी और उमस ने लोगों का हाल बेहाल कर दिया है | मौसम विभाग के मुताबिक अभी कुछ दिनों तक यहां गर्मी का कहर जारी रहेगा |  हालांकि, विभाग ने जुलाई में अच्छी बारिश होने का अनुमान जताया है | दिल्ली में बुधवार को अधिकतम तापमान 38.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्य से 1 डिग्री अधिक है | वहीं, यहां आर्द्रता का स्तर 57 से 84 प्रतिशत के बीच रहा | आईएमडी ने दिल्ली में मानसून के सामान्य रहने का पूर्वानुमान जताया है लेकिन 25 जून को राष्ट्रीय राजधानी में मानसून के दस्तक देने के बावजूद पर्याप्त बारिश नहीं हुई है | स्काईमेट वेदर रिपोर्ट के मुताबिक अगले 24 घंटों के दौरान मध्य प्रदेश, गोवा, कर्नाटक, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, असम, मेघालय और अरुणाचल प्रदेश के कुछ इलाकों में भारी बारिश हो सकती है | वहीं, लक्षद्वीप, अंडमान व निकोबार द्वीपसमूह, केरल, छत्तीसगढ़, मध्य महाराष्ट्र, मराठवाड़ा, दक्षिणी राजस्थान, दक्षिणी गुजरात, ओडिशा के कुछ हिस्सों, पूर्वोत्तर भारत और उत्तराखंड के कुछ हिस्सों में मध्यम बारिश की संभावना है | इसके अलावा बिहार, झारखंड, हरियाणा, हिमाचल और पंजाब में भी मॉनसून में कुछ हलचल देखने को मिल सकती है | बुधवार की रात महाराष्ट्र के कई इलाकों में हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश दर्ज की गई है | आज भी यहां कुछ इलाकों में बारिश की संभावना जताई गई है |

मौसम विभाग के आंकड़ों के अनुसार, जून महीने में दीर्घकालिक आवधिक औसत (एलपीए) की 118 प्रतिशत वर्षा हुई जिसे अत्यधिक बारिश माना जाता है | विभाग ने कहा कि पिछले 12 साल में, इस साल जून सबसे अधिक भीगा रहा | मानसून के सीजन में 1961-2010 के बीच देश में दीर्घकालिक आवधिक औसत (एलपीए) बारिश 88 सेंटीमीटर रही | 90-96 फीसदी के बीच बारिश ‘सामान्य से कम’ मानी जाती है और 96-104 फीसदी बारिश ‘सामान्य’ मानी जाती है | एलपीए की 104 -110 फीसदी वर्षा ‘सामान्य से अधिक’ और 110 फीसदी से अधिक वर्षा ‘अत्यधिक’ मानी जाती है | मौसम विभाग के मुताबिक मध्य भारत उपसंभाग में जून में हुई वर्षा एलपीए की 131 फीसदी रही | इस क्षेत्र में गोवा, कोंकण, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ आते हैं | पूर्वी और पूर्वोत्तर उप संभाग में हुई वर्षा एलपीए की 116 फीसदी रही | असम में बाढ़ आई और बिहार में भी अत्यधिक बरसात हुई |  हालांकि मौसम विभाग के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने कहा कि इन इलाकों में अगले पांच से दस दिन के भीतर बरसात में कमी आएगी | उत्तर पश्चिम उप संभाग में वर्षा एलपीए की 104 फीसदी रही और दक्षिण में यह एलपीए की 108 फीसदी रही | मौसम विभाग ने जुलाई माह में एलपीए की 103 फीसदी वर्षा का अनुमान जताया है | महापात्र ने कहा - जुलाई में अच्छी बारिश होने की उम्मीद है | उन्होंने बताया कि गुजरात के तट के निकट तथा पूर्वी-मध्य भारत के ऊपर दो चक्रवात बन रहे हैं | इससे मध्य तथा दक्षिण भारत में अगले पांच से दस दिन में अच्छी बारिश होगी |


    18
    0

    Comments

    • Ok

      Commented by :Randhir Kumar Gaurav Hajipur
      03-07-2020 01:34:08

    • Ooh

      Commented by :BAL GANGADHAR TILAK
      02-07-2020 20:00:28

    • Ok

      Commented by :Ambrish Mishra
      02-07-2020 19:23:04

    • Tk h

      Commented by :Shadab Khan
      02-07-2020 19:16:40

    • Ok

      Commented by :uday Parte
      02-07-2020 17:52:20

    • Accurate news

      Commented by :Vikalp Gupta
      02-07-2020 17:14:16

    • Ok

      Commented by :Arpit Pandey
      02-07-2020 17:05:03

    • Ok

      Commented by :Pravesh Kumar Satyarthi
      02-07-2020 16:51:48

    • Good

      Commented by :Vikas Yadav
      02-07-2020 16:26:22

    • Good news

      Commented by :Vishal Rajak
      02-07-2020 16:25:45

    • Ok

      Commented by :Gaurav Lohani
      02-07-2020 15:47:20

    • Ok

      Commented by :Vartika Mishra
      02-07-2020 15:32:52

    • Good

      Commented by :Ajay Kumar Azad
      02-07-2020 15:10:48

    • Good ,

      Commented by :Bal Gangadhar Tilak
      02-07-2020 15:01:07

    • Good

      Commented by :Mohammad Ashhab Alam
      02-07-2020 15:00:31

    • Load More

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends

    Special Story