दुनिया

बाइडेन ताईवान को देंगे 345 मिलियन डॉलर की सैन्य सहायता, US पर बौखलाया चीन

चीन और ताईवान के गतिरोध के बीच अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने ताइवान के लिए 34.5 करोड़ अमेरकी डॉलर के सैन्य सहायता की भी घोषणा की है, अमेरिकी रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन ने अपनी ऑस्ट्रेलिया यात्रा के दौरान द्विपक्षीय वार्ता में कहा कि US ताईवान को धमकाने वाले देशों को समर्थन करता रहेगा।

हम अपने सहयोगियों और साझेदारों का समर्थन करते रहेंगे

ऑस्ट्रेलिया के ब्रिस्बेन शहर की यात्रा पर गए अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने ऑस्ट्रेलिया को अमेरिकी परमाणु प्रौद्योगिकी से संचालित पनडुब्बियों के समझौते पर वार्ता के दौरान कहा कि हम अपने सहयोगियों और साझेदारों का समर्थन करना जारी रखेंगे क्योंकि वे धमकाने वाले व्यवहार से खुद की रक्षा करते हैं, उन्होने कहा कि हमने पूर्वी चीन सागर से दक्षिण चीन सागर तक, तथा दक्षिण-पश्चिम प्रशांत में चीन का दबाव देखा है।

हम एक ऐसा क्षेत्र चाहते हैं जहां सभी देश सुरक्षित और समृद्ध हों: ऑस्टिन

एक रिपोर्ट के अनुसार लॉयड ऑस्टिन ने कहा कि हम एक एक ऐसा क्षेत्र चाहते हैं जहां सभी देश सुरक्षित और समृद्ध हों, जहां राज्य अंतरराष्ट्रीय कानून और अंतरराष्ट्रीय मानदंडों का पालन करें, और जहां विवादों को बिना किसी दबाव के शांतिपूर्ण ढंग से हल किया जाए उन्होंने कहा कि आज, हमारा सहयोग महत्वपूर्ण है। यह नियमों और अधिकारों की दुनिया में एक स्वतंत्र और खुले हिंद-प्रशांत के हमारे आपसी सहयोग के लिए बहुत महत्वूर्ण है

अमेरिका और चीन के बीच तनाव का असर दूसरे देशों पर भी पड़ सकता है

अमेरिका ने ताइवान को विश्व के अन्य देशों के साथ संबंध बनाए रखने का वादा किया है और चीन के दबाव के बावजूद इसके पीछे खड़ा रहा है। यह कदम विश्व में एक नए राजनीतिक संबंध की शुरुआत हो सकती है और इससे विश्व की राजनीतिक में भी परिवर्तन हो सकता है। अमेरिका और चीन के बीच तनाव में विश्व की भूमिका महत्वपूर्ण है, और इसका सीधा असर दूसरे देशों पर भी पड़ सकता है। इस संदर्भ में अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने ताइवान के लिए सैन्य सहायता का एलान करके चीन को दस्तक देकर वह राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय मामलों में अपनी पकड़ बनाए रखने के लिए तैयार है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button