व्यापार और अर्थव्यवस्थाशेयर बाजार

बीएसई सेंसेक्स ने उच्चतम स्तर पर 65,721 अंक पर पहुंचकर एक विशेषज्ञ बढ़ोतरी दिखाई

बाजार की स्थिति:

पिछले सत्र के बाद, बीएसई सेंसेक्स ने उच्चतम स्तर पर 65,721 अंक पर पहुंचकर एक विशेषज्ञ बढ़ोतरी दिखाई। विपरीत रूप से, निफ्टी50 ने भी 19,517 अंकों पर 135 अंकों की ऊंचाई पर व्यापार किया, और इसका मतलब है कि यह अपने 200-दिन की चलने वाली औसत मान के 19,564 अंक से ऊपर था, जिससे विपणन की गति बनी रह सकती है।

सेंसेक्स और निफ्टी की ताज़ा जानकारी:

बाजार की नवीनतम स्थिति के आधार पर, सेंसेक्स ने पिछले सत्र में 480 अंकों की बढ़ोतरी दिखाई, जबकि निफ्टी50 ने 135 अंकों की ऊंचाई पर व्यापार किया। इस तरीके से, यह सुनिश्चित किया जा सकता है कि बाजार में उच्च गति के साथ विकास हो सकता है और निफ्टी50 अपने 200-दिन की चलने वाली औसत मान से ऊपर बना रह सकता है।

पायवट पॉइंट्स:

पायवट पॉइंट कैलकुलेटर के अनुसार, निफ्टी को 19,458 पर समर्थन प्राप्त हो सकता है, जिसके बाद 19,434 और 19,395 आ सकते हैं। ऊपरी दिशा में, 19,537 महत्वपूर्ण संरक्षण हो सकता है, जिसके बाद 19,561 और 19,600 आ सकते हैं।

जीआईएफटी निफ्टी का मार्जिनल सकारात्मक आरंभ:

जीआईएफटी निफ्टी के सूचकों में एक हलके से सकारात्मक आरंभ की स्थिति दिख रही है, जहाँ निफ्टी ने 4 अगस्त को 19,517 अंकों पर 135 अंकों की ऊंचाई पर व्यापार किया था। जीआईएफटी निफ्टी के आगामी निवेश में 19,605 अंक पर स्थित हुआ था।

तेल कीमतें:

तेल कीमतों में शुक्रवार को एक डॉलर से अधिक की वृद्धि हुई, जिससे यह छठा लगातार सप्ताहिक बढ़ोतरी दर्ज कर रहा है, क्योंकि शीर्ष निर्माताओं सऊदी अरब और रूस ने सितंबर तक आपूर्ति कटौतियों को बढ़ा दिया, जो आपूर्ति की चिंताओं में इजाफा कर रहे हैं। ब्रेंट क्रूड फ्यूचर्स में $1.10 की वृद्धि हुई, या 1.3%, और इसके बंद होने की दर $86.24 प्रति बैरल पर हुई, जबकि संयुक्त राज्य वेस्ट टेक्सास इंटरमीडिएट क्रूड $1.27, या 1.6%, की वृद्धि हुई, और इसके बंद होने की दर $82.82 प्रति बैरल पर हुई। शुक्रवार को दोनों मानकों ने मध्य अप्रैल से उच्चतम स्तर पर पहुंचने का संकेत दिया।

आगामी पूर्ववत आपूर्ति कटौती के बारे में:

सऊदी अरब और रूस के प्रमुख उत्पादकों ने सितंबर तक आपूर्ति कटौतियों को बढ़ा दिया है, जिससे आपूर्ति की चिंताएं बढ़ गई हैं। यह कदाचित् संकेत हो सकता है कि आगामी दिनों में तेल कीमतों में वृद्धि हो सकती है और बाजार में अधिक उतार-चढ़ाव आ सकता है।

संक्षेप:

इस लेख में, हमने देखा कि सेंसेक्स और निफ्टी 7 अगस्त को बढ़ोतरी के साथ खुल सकते हैं, जो जीआईएफटी निफ्टी की सूचकों में दिख रहा है। सेंसेक्स और निफ्टी ने पिछले सत्र में ऊंचाइयों की ओर बढ़ोतरी दिखाई, और निफ्टी50 ने अपने 200-दिन की चलने वाली औसत मान से ऊपर व्यापार किया। तेल कीमतों में भी वृद्धि हुई है और सितंबर तक कटौतियों का विस्तार हुआ है, जिससे आपूर्ति की चिंताएं बढ़ी हैं। इन सभी प्रमुख घटकों के साथ, आने वाले दिनों में बाजार की स्थिति में बदलाव हो सकता है, और निवेशकों को विवेकपूर्ण निवेश करने के लिए सतर्क रहना चाहिए।

सामान्य पूछे जाने वाले प्रश्न:

बाजार में बदलाव की संभावना क्या है?
आगामी दिनों में बाजार में बदलाव की संभावना है, क्योंकि सेंसेक्स और निफ्टी दोनों में बढ़ोतरी के संकेत दिख रहे हैं।

निफ्टी के पायवट पॉइंट्स क्या हैं?
निफ्टी के पायवट पॉइंट्स 19,458, 19,434, और 19,395 हो सकते हैं, जबकि महत्वपूर्ण संरक्षण के रूप में 19,537, 19,561, और 19,600 हो सकते हैं।

तेल कीमतों में क्यों वृद्धि हुई है?
सऊदी अरब और रूस ने सितंबर तक आपूर्ति कटौतियों को बढ़ा दिया है, जो तेल की चिंताओं को बढ़ा रहे हैं, इससे तेल कीमतों में वृद्धि हुई है।

क्या जीआईएफटी निफ्टी की स्थिति में सकारात्मक बदलाव है?
जीआईएफटी निफ्टी के सूचकों में हलके से सकारात्मक आरंभ की स्थिति दिख रही है, जिससे संकेत मिलता है कि आगामी विकास के साथ बाजार में बदलाव हो सकता है।

आगामी दिनों में बाजार में कैसे निवेश करें?
बाजार की स्थिति में बदलाव हो सकता है, इसलिए निवेशकों को विवेकपूर्ण निवेश के साथ सतर्क रहना चाहिए और मार्जिन के साथ निवेश करना चाहिए।

read more… भारतीय बाजारों ने दो दिनों के गिरावट के बाद धीरे-धीरे बढ़त की राह पर

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button