advy_govt

1 दिसंबर से बदल रहे है ये नियम, जानिए आप पर पड़ेगा कितना असर

Medhaj News 1 Dec 20 , 15:44:37 Business & Economy Viewed : 2530 Times
95dc92ac9e39f590a22947bd026c7d10.jpg

आज से बहुत सारे नियम बल रहे है। इन बदलते नियमों का आपकी ज़िन्दगी पर पड़ेगा असर।  एक दिसंबर से एलपीजी सिलेंडर यानी रसोई गैस, रेलवे और बैंक के लेनदेन से जुड़े नियम बदल गए हैं। दिसंबर से रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट (RTGS) के समय में बदलाव होने वाला हैं। एक दिसंबर से एलपीजी सिलेंडर के दाम बदलने वाले हैं। आइए जानते हैं इन नियमों के बारे में..

-24 घंटे मिल सकती है RTGS सुविधा 

दिसंबर महीने से बैंकों के पैसों के लेन-देन से जुड़ा नियम बदल सकता है। आरबीआई ने 24 घंटे के लिए आरटीजीएस सुविधा शुरू करने का ऐलान किया था। अभी ये सुविधा महीने के दूसरे और चौथे शनिवार को छोड़कर हफ्ते के सभी कामकाजी दिनों में सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक मिलती है। यानी दिसंबर से आरटीजीएस के माध्यम से चौबीसों घंटे मनी ट्रांसफर कर सकेंगे। 

-रसोई गैस हुई महंगी 

हर महीने की पहली तारीख को सरकार रसोई गैस यानी एलपीजी सिलेंडरों के दामों में बदलाव करती है। यानी 1 दिसंबर से देशभर में रसोई गैस के दाम बदल गए हैं। आज से 19 किलोग्राम का कमर्शियल सिलेंडडर 56 रुपये तक महंगा हो गया है।

-प्रीमियम में कर सकेंगे ये बदलाव

बीमाधारक 5 साल के बाद प्रीमियम की रकम को 50 फीसदी तक घटा सकते हैं। यानि वह आधी किस्त के साथ भी पॉलिसी जारी रख पाएंगे।

-एक दिसंबर से चलाई जाएंगी ये नई ट्रेनें

भारतीय रेलवे 1 दिसंबर से कई नई ट्रेनें चलाने जा रहा है। कोरोना संकट के बाद से रेलवे लगातार कई नई स्पेशल ट्रेनें चला रहा है। अब 1 दिसंबर से भी कुछ ट्रेनों का परिचालन शुरू होने जा रहा है, इसमें झेलम एक्सप्रेस और पंजाब मेल दोनों शामिल हैं।


    7
    0

    Comments

    • Ok

      Commented by :Rinku Ansari
      01-12-2020 19:35:53

    • Okay

      Commented by :Vijay
      01-12-2020 19:29:37

    • Ok

      Commented by :Md Shahnawaz
      01-12-2020 19:13:20

    • Ok

      Commented by :Saddam husain
      01-12-2020 17:09:18

    • ok

      Commented by :Nasir Hussain
      01-12-2020 16:15:44

    • Load More

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    advt_govt

    Trends

    Special Story