नौकरीपेशा लोगों के लिए पेंशन से जुड़ी खबर

Medhaj News 17 Nov 20 , 13:29:54 Business & Economy Viewed : 471 Times
private.png

नए साल के आम बजट को लेकर तैयारियां शुरू हो चुकी हैं | इस बार के बजट में सरकार राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली (एनपीएस) को लेकर एक अहम फैसला ले सकती है | आइए इसके बारे में विस्तार से जानते हैं | दरअसल, राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली (एनपीएस) के तहत नियोक्ताओं के 14 प्रतिशत के योगदान को सभी श्रेणियों के अंशधारकों के लिए टैक्स फ्री करने का प्रस्ताव है | इस प्रस्ताव को पेंशन कोष नियामक एवं विकास प्राधिकरण (पीएफआरडीए) का भी समर्थन मिला है | पीएफआरडीए ने इस प्रस्ताव को सरकार के समक्ष रखने का फैसला किया है | आपको बता दें कि एनपीएस के तहत केंद्र सरकार के कर्मचारियों के लिए पेंशन में नियोक्ताओं के 14 प्रतिशत के योगदान को एक अप्रैल, 2019 से टैक्स फ्री किया गया है | 

पीएफआरडीए के चेयरमैन सुप्रतिम बंद्योपाध्याय ने बताया कि कई राज्य सरकारों ने इस बारे में हमें पत्र लिखा है | हम इसे गंभीरता से लेते हैं और सरकार के समक्ष अपनी बात रखेंगे | बता दें कि राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली यानी एनपीएस सरकार की रिटायरमेंट सेविंग स्कीम है | इस योजना को सरकार ने 1 जनवरी 2004 को लॉन्च किया गया था | इस तारीख के बाद ज्वाइन करने वाले सभी सरकारी कर्मचारियों के लिए यह योजना जरूरी है | साल 2009 के बाद से इस योजना को निजी क्षेत्र के लिए भी खोल दिया गया | इस योजना में दो तरह के टियर-1 और टियर-2 अकाउंट होते हैं | टियर-1 अकाउंट को खुलवाना अनिवार्य है | इस अकाउंट में जो भी रकम जमा कर रहे हैं, उसे वक्त से पहले यानी रिटायरमेंट तक नहीं निकाल सकते | कोई भी टियर-1 अकाउंट होल्डर इस अकाउंट को खोल सकता है और अपनी इच्छा से इसमें पैसा जमा या निकासी कर सकता है | यह अकाउंट सभी के लिए अनिवार्य नहीं है |  


    0
    0

    Comments

    • Ok

      Commented by :Aslam
      17-11-2020 20:09:55

    • Load More

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends

    Special Story