सरसों के तेल में अब नहीं होगी किसी अन्य खाद्य तेल की मिलावट, सरकार का आदेश

Medhaj News 28 Sep 20 , 11:19:42 Business & Economy Viewed : 980 Times
mustard.png

सरकार ने सरसों के तेल में किसी भी अन्य खाद्य तेल की मिलावट पर एक अक्टूबर से रोक लगा दी है। यानी एक अक्टूबर से लोगों को अब शुद्ध सरसों का तेल मिलेगा। सरसों के तेल में चावल की भूसी, सोयाबीन और पाम ऑयल के तेल की मिलावट नहीं की जा सकेगी। खाद्य तेल उद्योग की दिग्गज हस्तियों ने सरकार के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि इससे देश में सरसों दाने का उत्पादन बढ़ेगा और खाद्य तेलों के आयात में कमी होगी। फॉर्च्यून ब्रांड के तहत खाद्य तेल बेचने वाली अडाणी विल्मर और धारा ब्रांड के तहत खाद्य तेलों का विपणन करने वाली मदर डेयरी ने इस फैसले की तारीफ करते हुए कहा कि इससे किसानों और उपभोक्ताओं दोनों को फायदा होगा। अडाणी विल्मार के उप मुख्य कार्यपालक अधिकारी अंगशु मल्लिक ने कहा - यह एक अच्छा फैसला है। उपभोक्ताओं को अब शुद्ध सरसों का तेल मिलेगा। सरसों के तेल में चावल की भूसी, सोयाबीन और पाम ऑयल के तेल की मिलावट की जा रही है। उन्होंने कहा कि इस फैसले के बाद अब पांच लाख टन अतिरिक्त सरसों के तेल की जरूरत होगी, जिसे मिलाया जा रहा था।

मल्लिक ने कहा - पांच लाख टन सरसों के तेल का उत्पादन करने के लिए हमें 12-15 लाख टन अतिरिक्त सरसों की जरूरत होगी। उन्होंने कहा कि इस फैसले से राजस्थान और अन्य राज्यों में सरसों का रकबा बढ़ेगा और किसानों की आय में इजाफा होगा। देश में रबी (सर्दियों के मौसम) की फसल के दौरान सरसों का उत्पादन 2019-20 के फसल वर्ष (जुलाई-जून) में 91.16 लाख टन था। मल्लिक ने सुझाव दिया कि खाद्य नियामक को इस फैसले के अनुपालन को सुनिश्चित करने के लिए सतर्क रहना होगा और अवैध रूप से सम्मिश्रण रोकना होगा।मदर डेयरी के एक प्रवक्ता ने कहा - यह निश्चित रूप से एक सकारात्मक फैसला है और ये हर तरह से उपभोक्ताओं, किसानों और ईमानदारी से शुद्ध सरसों का तेल बेचने वालों के हित में है, क्योंकि उत्तर प्रदेश, बिहार और  मध्य प्रदेश जैसे सरसों तेल के बड़े बाजारों में उपभोक्ताओं को गुमराह किया गया था और सरसों के तेल के नाम पर मिलावट वाला तेल बेचा जा रहा था। उन्होंने कहा कि मदर डेयरी ने हमेशा शुद्ध सरसों के तेल की वकालत की है, जो सही स्वाद और सुगंध देता है। सरसों तेल में मिलावट से गुणवत्ता और स्वाद दोनों प्रभावित होते हैं। उन्होंने कहा कि इसके अलावा दूसरे खाद्य तेलों की मिलावट पर प्रतिबंध से किसानों को फसल की बेहतर कीमत मिल सकेगी। 



 


    5
    0

    Comments

    • Milawat nahi ruk payge! Ballia main nakaile hear oil aur Pani ki tanki branded company ka banaya jata hai Aur her patkaar koi malum hai

      Commented by :?????
      28-09-2020 23:51:04

    • Good

      Commented by :Aslam
      28-09-2020 21:48:30

    • Good

      Commented by :Rinku Ansari
      28-09-2020 18:49:06

    • Good decision But ab rate aur badayga

      Commented by :Satish
      28-09-2020 13:18:55

    • Good

      Commented by :Sushil Kumar Gautam
      28-09-2020 12:35:01

    • Hope this will implement completely..

      Commented by :Rajeev Kumar
      28-09-2020 11:30:17

    • good

      Commented by :Shaban
      28-09-2020 11:24:26

    • Load More

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends

    Special Story