advy_govt

EPFO के दायरे में नहीं आने वालों के लिए भी बेहतर विकल्प

Medhaj News 24 Nov 20 , 16:36:18 Business & Economy Viewed : 1346 Times
epfo.png

PPF यानी की पब्लिक प्रोविडेंट फंड एक बहुत ही अच्छा निवेश का विकल्प है | इस खाते में एक तो ब्याज भी बहुत अच्छा मिलता है, वहीं सरकार की तरफ से गारंटी होने की वजह से इस खाते को बैंक या फिर पोस्ट ऑफिस में 500 रुपये की राशि में खुलवा सकते हैं | वैसे भी, लंबे समय के निवेश के लिए पीपीएफ एक बेहतरीन विकल्प है | इसके पीछे की वजह इसमें सरकार की भागीदारी है | यही नहीं, पीपीएफ में निवेश के जरिए और टैक्स छूट भी हासिल होती है | पीपीएफ में निवेश सिर्फ ईपीएफओ (EPFO) के दायरे में आने वाले लोग ही नहीं कर सकते, बल्कि स्वरोजगार में लगे लोग भी पीपीएफ में निवेश कर सकते हैं | पीपीएफ साल भर में एक मुश्त या हर महीने निवेश की सुविधा देता है | इसमें सालाना अधिकतम 1.5 लाख या मासिक अधिकतम 12500 रुपये जमा किया जा सकता है | 

हालांकि, सबसे आम समस्याओं में से एक जो पीपीएफ खाता धारकों का अक्सर सामना होता है वह खातों का Expire होना है | ऐसे उदाहरण हैं जहां ग्राहकों को पता चला है कि उनका पीपीएफ खाता समाप्त हो गया है | यदि आप इस तरह की परेशानी का सामना करते हैं, तो आपको इसे संबंधित फॉर्म में एक एप्लिकेशन के माध्यम से रिन्यू करना होगा | हालांकि, पहले यह जानना जरूरी है कि आपका पीपीएफ खाता किस स्थिति में बंद हो सकता है | 

यदि पीपीएफ खाता धारक किसी भी आगामी वित्तीय वर्ष (1 अप्रैल से 31 मार्च) में न्यूनतम राशि का योगदान करने में विफल रहता है, तो खाता बंद कर दिया जाता है | इस स्थिति में, खाताधारक को निकासी की सुविधा समाप्त हो जाती है | ऐसी परिस्थितियों में accountholders भी अपने PPF पैसे पर लोन नहीं ले सकते हैं | ग्राहक को 15 वर्ष की परिपक्वता अवधि की समाप्ति के बाद ब्याज के साथ ही उसकी राशि वापस मिल जाएगी, जो कि सरकार द्वारा समय-समय पर निर्धारित दर पर शेष राशि (प्रत्येक बार बंद किए गए खाते में) भी जोड़ी जाती रहेगी | बैंक या डाकघर में जहां खाता खोला गया था, वहां खाते को पुनर्जीवित करने के लिए एक लिखित आवेदन जमा करके पीपीएफ खाते को पुनर्जीवित किया जा सकता है | इसके अतिरिक्त, डिफॉल्ट के प्रत्येक वर्ष के लिए 50 रुपये का जुर्माना, बकाया भुगतान के रूप में प्रत्येक वर्ष के लिए 500 रुपये और खाते को पुनर्जीवित करने वाले वर्ष के लिए सदस्यता के रूप में न्यूनतम 500 रुपये का भुगतान किया जाना है |  


    2
    0

    Comments

    • Ok

      Commented by :Aslam
      24-11-2020 21:33:41

    • Ok

      Commented by :Mohammad Ashhab Alam
      24-11-2020 16:42:05

    • Load More

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    advt_govt

    Trends

    Special Story