Appkikhabar Banner29042021

यमुना एक्सप्रेस-वे पर फास्टैग फरवरी 2021 से शुरू होगा

यमुना एक्सप्रेस-वे पर फास्टैग फरवरी 2021 से शुरू होगा

फरवरी से यमुना एक्सप्रेस-वे पर Fastag शुरू हो जाएगा | इसके लिए IDBI Bank की सहमति मिल चुकी है | इसी हफ्ते इस पर बैंक और कंपनी के बीच करार होगा | ये सभी जानकारी आइआरपी ने यमुना प्राधिकरण को दी है | यमुना एक्सप्रेस-वे पर एक सप्ताह के अंदर प्राधिकरण सीईओ डा. अरुणवीर सिंह ने पिछले हफ्ते फास्टैग लागू करने के लिए कदम उठाने के निर्देश दिए थे | आपको बता दे कि देश के सभी राष्ट्रीय राजमार्ग और एक्सप्रेस-वे पर फास्टैग की सुविधा लागू हो चुकी है | लेकिन यमुना एक्सप्रेस-वे पर ये सुविधा उपलब्ध नहीं है | एक्सप्रेस-वे से गुजरने वाली गाड़ियों को मैनुअल तरीके से टोल टैक्स का पेमेंट करना होता है | जिससे देरी के साथ - साथ उन्हें जाम का भी सामना करना पड़ता है | फरवरी से Fastag लगने के बाद उन्हें इन सभी परेशानियों से छुटकारा मिल जाएगा | 



यमुना एक्सप्रेस-वे पर फास्टैग फरवरी 2021 से शुरू होगा



आपको बता दे कि Fastag एक प्रकार का टैग या चिप है | जो आपकी गाड़ियों की विंडस्क्रीन पर लगाया जाता है | इसके लगने के बाद टोल प्लाजा पर टोल टैक्स का भुगतान आप कैशलेश  कर सकते है | Fastag लगने के बाद जब भी आपकी गाड़ी टोल प्लाजा से गुजरेगी तो टोल टैक्स डायरेक्ट आपके खाते से कट जाएगा | कार, जीप, बस, ट्रक यानी वाहन के हिसाब से Fastag की कीमत तय होती है | आप जिस भी जगह से Fastag खरीदते है | सिक्योरिटी डिपॉज़िट और फीस आदि को लेकर उसकी अपनी नीतियां होती हैं | FASTag  को लेकर भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (NHAI) ने अपने मोबाइल ऐप My FASTag App में एक नया फीचर जोड़ा है | इस ऐप के जरिए आप अपने FASTag का बैलेंस आसानी से चैक कर सकते है | FASTag के लिए जरूरी डॉक्यूमेंट्स - गाड़ी की आरसी (रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट), केवाईसी डॉक्यूमेंट्स, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आईडी कार्ड, पैन कार्ड, आधार कार्ड, पासपोर्ट है | 



 


    Share this story