राज्यउत्तर प्रदेश / यूपी

मुख्यमंत्री आवास योजना-ग्रामीण में अब तक 2 लाख 57 हजार से अधिक आवासों का किया गया आवंटन : उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य

उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के नेतृत्व और निर्देशन में उत्तर प्रदेश में बेघरों को घर देने का सिलसिला अनवरत रूप से जारी है। गरीबों और बेघरों को उनका अपना पक्का घर होने के सपनों को साकार किया जा रहा है। उत्तर प्रदेश में प्रधानमंत्री आवास योजना -ग्रामीण में तो 36लाख से अधिक आवासों का आवंटन किया ही गया है लेकिन जिनके लिए किसी का ध्यान नहीं गया था, और जिनका नाम भी प्रधानमंत्री आवास योजना -ग्रामीण की सूची में नहीं था, ऐसे लोगों को पक्का आवास देने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा 2018 में मुख्यमंत्री आवास योजना -ग्रामीण संचालित की गयी। इस योजना में ग्रामीण क्षेत्र में प्राकृतिक आपदा से प्रभावित, कुष्ठरोग आदि से प्रभावित, तथा वनटांगिया, मुसहर, कोल, सहरिया एवं थारू एवं नट, चेरो,पछइया, लोहार/गढ़इया, बैगा एवं दिव्यांगजन के आवास विहीन या कच्चे/जर्जर आवास में निवास कर रहे परिवारों को लाभान्वित किया जा रहा है।

योजना के आरम्भ से वर्ष 2022-23 तक इस योजना में 161900 आवास आवंटित किए गए, जिसमें से 1लाख 53 हजार से अधिक आवास पूर्ण हो गये हैं। मुख्यमंत्री आवास योजना -ग्रामीण में वर्ष 2023-24 में 95533 आवासों का आवंटन किया गया है, इनमें से 65हजार से अधिक आवास दिव्यांगजनो को आवंटित किए गए हैं। मुख्यमंत्री आवास योजना -ग्रामीण की प्राथमिकता श्रेणी में दिव्यांगजन पहले सम्मिलित नहीं हो पाये थे, उप मुख्यमंत्री श्री मौर्य की पहल व प्रयासों के फलस्वरूप दिव्यांगजनो को प्राथमिकता श्रेणी में सम्मिलित कराया गया।

खास बात यह है कि मुख्यमंत्री आवास योजना -ग्रामीण में गरीबों को क्लस्टर में भी आवास दिये गये हैं। प्रदेश के जनपदों, लखीमपुर खीरी, प्रयागराज, जौनपुर, वाराणसी, मिर्जापुर, बलरामपुर, कानपुर नगर, कानपुर देहात एवं सोनभद्र में क्लस्टर में आवास बनाये गये हैं, जिनमें सीसी रोड, इन्टरलाकिग, पेयजल, सोलर लाइट, खेल मैदान आदि जैसी बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध करायी गयी हैं।

ग्राम्य विकास आयुक्त जी एस प्रियदर्शी ने बताया कि क्लस्टर में कानपुर देहात में 63बांग्लादेशी विस्थापित परिवारों को आवास दिये गये हैं। कानपुर नगर में मार्ग दुर्घटना के शिकार 19परिवारो को इस योजना का लाभ मिला है, जनपद सोनभद्र में बड़ी संख्या में क्लस्टर में घर बनाये जा रहे हैं। बलरामपुर में राप्ती नदी के कटान से बुरी तरह प्रभावित 66 विस्थापित परिवारों को क्लस्टर में आवास बनवाकर आधारभूत सुविधाएं दी गयी हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button