विज्ञान और तकनीक

साइबर क्राइम: ई-मेल आईडी में सिर्फ एक चीज बदलकर WHO अधिकारी से लाखों रुपये की धोखाधड़ी

जब हम तकनीकी उन्नति की बात करते हैं। तो साइबर अपराधियों की चालाकियाँ भी बढ़ती हैं। आजकल इंटरनेट पर धोखाधड़ी के नए-नए तरीके ईजाद किए जा रहे हैं। इसका शिकार विश्व स्वास्थ्य संगठन के एक सेवानिवृत्त अधिकारी भी हुए हैं। एक साधारण सी ई-मेल आईडी में हुई एक छोटी सी गलती ने उन्हें ठगा दिया।

शख्स के बयान के अनुसार

शख्स के अनुसार, उसे एक दिन उसके दोस्त से एक ई-मेल मिला। ईमेल में उनके दोस्त ने आर्थिक मदद मांगी और उन्हें धर्म के लिए भी भविष्य की शुभकामनाएं दीं। हालांकि, बाद में पता चला कि वह ईमेल फर्जी आईडी से आई है। तब तक ये शख्स पैसे भेज चुका था। वहां उस फर्जी ईमेल में जितने पैसे दिए गए, वह उन्हें तक पहुंचने में समय नहीं लगा।

धोखाधड़ी के शिकार कैसे बने?

आप सोच रहे होंगे कि धोखाधड़ी के शिकार कैसे बने? वेल, वह धोखाधड़ी कुछ इस तरह हुई। इस अधिकारी को ई-मेल करने वाले ने उससे दोस्ती की और उससे बातचीत की। जब उन्होंने बताया कि उनके घर में एक नया मेहमान आया है तो अधिकारी ने उन्हें बधाई दी। इसके बाद एक अन्य मेल में इस शख्स ने कहा कि उसकी लंदन से भारत आने वाली फ्लाइट छूट गई है। मेल में कहा गया कि उनकी पत्नी की तबीयत खराब हो गई है। और नई फ्लाइट बुक करने के लिए उन्हें पैसों की जरूरत है।

धोखा के शिकार का रिएलाईजेशन

धोखे के शिकार को धोखा होने का रिएलाईजेशन हुआ तब, जब उसे ध्यान आया कि वह फर्जी ई-मेल आईडी से मेल प्राप्त हुआ था। उसे पहले से ही अपने दोस्त की एक सटीक ई-मेल आईडी थी। लेकिन उसका ध्यान इस छोटी सी गलती पर नहीं गया और वह ठगा गया।

सुरक्षा के महत्वपूर्ण टिप्स

ई-मेल में पैसे या व्यक्तिगत जानकारी के लिए कभी भी अनजाने ईमेल आईडी पर भरोसा न करें। उसे आपके संबंधित परिचितों के साथ ही साझा करें।
फर्जी ईमेलों में अन्यायपूर्ण आर्थिक प्रस्ताव या धर्म के लिए धनवान बनने के वादे आपके आंतरिक ईमानदारी और विचारशीलता का इस्तेमाल करते हैं। इन्हें गलती से भी न खोलें।
ईमेल आईडी में ध्यान से देखें कि कोई भी अनजाना अक्षर या वर्ण न जुड़ा हो, क्योंकि धोखाधड़ी के अपराधियों ने इस तरह की धोखाधड़ी की है।
यदि आपको संदेह है। तो अपने दोस्त या परिवार के साथी से पुष्टि करें। ईमेल में पैसे भेजने से पहले यह सुनिश्चित करें कि यह सही है।
समय-समय पर सेवानिवृत्त अधिकारियों और वैज्ञानिकों द्वारा निर्मित सुरक्षा अपडेट का उपयोग करें। इंटरनेट पर सुरक्षित रहने के लिए उन्हें अपनाएं और इंस्टॉल करें।

धोखाधड़ी के बाद क्या हुआ?

जब यह सेवानिवृत्त अधिकारी ने धोखाधड़ी का रिएलाईजेशन किया, तो वह तुरंत पुलिस के पास गये। पुलिस ने उसकी मदद की और उसकी शिकायत दर्ज की। अब धोखेबाजों को पकड़ा जा रहा है और उन्हें न्यायिक कार्रवाई के तहत लाया जा रहा है।

निष्कर्ष

इस घटना से सीख यह है कि हमें इंटरनेट पर सावधान रहना बहुत ज़रूरी है। धोखाधड़ी के चक्कर में आकर हम अपने संबंधित जानकारी और पैसे खो सकते हैं। हमें तकनीकी सुरक्षा के बारे में जागरूक रहना और सबकी मदद के लिए अनजाने ईमेलों में ध्यान देना चाहिए। सावधानी से ई-मेल के माध्यम से होने वाली धोखाधड़ी से बचने के लिए समय-समय पर अपडेट सुरक्षा तंत्रों का उपयोग करें।

FAQs

1. साइबर क्राइम क्या है?
साइबर क्राइम इंटरनेट और इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस का उपयोग करके किए जाने वाले अपराधों को कहते हैं।

2. कैसे पहचानें कि ई-मेल फर्जी है या नहीं?
फर्जी ई-मेल में अक्सर अनजाने अक्षर या वर्ण होते हैं, और वह आपके जानकारी को प्रवेश नहीं कर पाते हैं। इसलिए इसकी जांच जरूर करें और संदेहास्पद ईमेल्स को न खोलें।

3. सुरक्षा अपडेट क्यों महत्वपूर्ण हैं?
सुरक्षा अपडेट उन्हें सुरक्षित रखने में मदद करते हैं, ताकि साइबर अपराधियों का ध्यान रहे और आपकी सुरक्षा परेशान न हो।

4. अनजाने लोगों से ध्यान कैसे बरतें?
अनजाने लोगों से ध्यान से बरतें, उनकी जानकारी साझा न करें और उनके सवालों का ध्यानपूर्वक जवाब दें। ध्यान रखें कि वे आपकी निजी जानकारी के लिए नहीं हैं।

5. साइबर क्राइम से बचने के लिए कैसे तैयार रहें?
साइबर क्राइम से बचने के लिए सुरक्षा अपडेट्स का उपयोग करें, अपने पासवर्ड को मजबूत बनाएं, संदेहास्पद लिंक्स को न खोलें, और ई-मेलों को सावधानी से जांचें।

इसलिए, हमें सभी दुर्घटनाओं से सीख लेना चाहिए और इंटरनेट पर सुरक्षित रहकर अपने और अपने परिवार के जीवन को बचाएं। सावधान रहें, सुरक्षित रहें!

देखें: चंद्रयान-3 द्वारा ली गई चंद्रमा की पहली झलक

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button