राज्यउत्तर प्रदेश / यूपी

राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन की दीदियों द्वारा सम्पूर्ण देश में सर्वाधिक डिजिटल लेन देन का कीर्तिमान किया गया स्थापित

प्रदेश के दूर दराज के क्षेत्रो में डिजिटल प्लेटफार्म के बेहतर उपयोग एवं प्रयोग के माध्यम से राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन की दीदियो द्वारा प्रदेश में ही नहीं, बल्कि राष्ट्रीय स्तर पर सर्वाधिक लेन देन कर कीर्तिमान स्थापित किया है। ग्रामीण विकास मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा राष्ट्रीय स्तर का अभियान 01 फ़रवरी 23 से 15 अगस्त 2023 अंतर्गत सम्पूर्ण देश में 50,000 ग्राम पंचायतो में से उत्तर प्रदेश की 20618 ग्राम पंचायत (42 प्रतिशत) का वृहद लक्ष्य डिजिटल लेन देन के माध्यम से वित्तीय सेवाओ को प्रोत्साहित करने हेतु किया गया।

उप मुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य के सतत् मार्गदर्शन व कुशल नेतृत्व में राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन, डिजिटल लेन देन के क्षेत्र में बी.सी सखी, बैंक सखी एवं वित्तीय साक्षरता रिसोर्स पर्सन तथा अन्य कैडर के द्वारा नित नयी ऊंचाई की तरफ अग्रसर है। उप मुख्यमंत्री के दिशा निर्देशों के अनुसार समस्त 75 जनपदों के साथ समन्वय स्थापित कर इस अभियान की नियमित समीक्षा, आवश्यक समन्वय एवं सहयोग द्वारा विगत 6.5 माह में केंद्र सरकार द्वारा निर्धारित लक्ष्य के सापेक्ष शत प्रतिशत से अधिक की पूर्ति सुनिश्चित की गयी है।

मिशन निदेशक, राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन, सी. इंदुमती द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार वित्तीय समावेशन आधारित डिजिटल अभियान के दौरान आम जन मानस विशेषकर समूह की दीदियों को डिजिटल वितीय साक्षरता पर जागरूक करते हुए बचत, सामाजिक बीमा योजनाये, जोखिम कम करना, बैंक खातो का संचालन, ऋण वापसी आदि द्वारा उनको विकास की मुख्य धारा में अपने आप को जोड़ते हुए आत्मनिर्भर बनने की दिशा में सघन अभियान चलाया गया। 20618 से अधिक ग्राम पंचायतो में डिजिटल लेन देन की व्यापकता एवं महत्व पर कार्यक्रमों का सफल आयोजन किया गया। बी.सी सखियों को लक्षित 1.70 करोड़ लेन देन के सापेक्ष 2 करोड़ से अधिक का लेन देन किया गया जो कि निर्धारित समय में सम्पूर्ण देश में सर्वाधिक लेन देन का रिकॉर्ड हैं। कार्यक्रम अवधि में सुदूर ग्रामीण अंचलो में कुल लक्ष्य 3322 बी सी सखी के सापेक्ष 4819 विजनेस करेसपोंडेंस सखियों का चयन, भारतीय बैंकिंग एवं वित्त संस्थान से प्रशिक्षण, प्रमाणीकरण द्वारा डिजिटल ट्रांजेक्शन में दक्ष बनाकर डिजिटल लेन देन को प्रोत्साहित कर स्वरोजगार प्रोत्साहित किया गया। डिजिटल ट्रांजेक्सन के जागरूकता कार्यक्रमों से प्रदेश की दूर दराज के क्षेत्र में निवासरत वृद्ध, दिव्यांगजन, विद्यार्थियों, अति निर्धन को आकस्मिक सहायता की समयबद्ध उपलब्धता के साथ साथ समय, पैसे की बचत, अनावश्यक आवागमन, धन की सुरक्षा आदि में लाभ प्राप्त हुआ है।

उप मुख्यमंत्री ने डिजिटल अभियान की सफलता पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए स्वयं सहायता समूहों के कार्यों की सराहना की है। प्रधानमंत्री मोदी के डिजिटल इंडिया द्वारा आत्मनिर्भर भारत के विजन को साकार करने की दिशा में 20618 ग्राम पंचायतो में वित्तीय सेवाओ पर डिजिटल माध्यम के द्वारा जन सहभागिता द्वारा जागरूकता कार्यक्रमों का सफल आयोजन, 4819 से अधिक बी सी सखी की पदस्थापना, 20 करोड़ से अधिक का लेन देन द्वारा सम्पूर्ण देश में प्रथम स्थान मिशन की अपनी एक नयी पहचान को दर्शाता है। इस अभियान की महत्वपूर्ण कड़ी समूह के कैडर, मिशन स्टाफ, बैंकिंग शाखाओ के प्रतिनिधिओं द्वारा एक टीम के रूप में कार्य करते हुए इस पहल को और अधिक संवेग एवं प्रगति प्रदान किया है, जिससे प्रदेश में इलेक्ट्रॉनिक सेवाओं, उत्पादों, उपकरणों, विनिर्माण और रोजगार के अवसरों को शामिल करने से समावेशी विकास को बढ़ावा मिल रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button