राज्यउत्तर प्रदेश / यूपी

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का भरपूर लाभ उठाएं किसान-कृषि मंत्री

भारत सरकार के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय, कृषि सहकारिता एवं किसान कल्याण विभाग की ओर से संचालित फ्लैगशिप योजना ‘‘प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना’’ के व्यापक प्रचार-प्रसार करने, योजना के प्रति कृषकों की आशंकाओं के समाधान करने एवं योजना में कृषकों की भागीदारी बढ़ाने के उद्देश्य से कृषि भवन लखनऊ में एक राज्य स्तरीय कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन सूर्य प्रताप शाही मा० कृषि मंत्री जी उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा किया गया। योजना की जागरूकता का कार्यक्रम प्रदेश में पूरे जुलाई माह में चलाया जाएगा।

अपने संबोधन में सूर्य प्रताप शाही ने बताया कि आपदा के समय कृषकों की आय को स्थिर रखने एवं कृषकों की आय दुगुनी करने की दिशा में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना एक महत्वपूर्ण स्तम्भ है। यह कृषकों को किसी भी प्रकार की दैवीय आपदा के विरुद्ध उनकी अधिसूचित फसलों को बीमा कवर प्रदान करते हुए वित्तीय सहायता प्रदान करती है और उन्हें कृषि क्षेत्र में नवीन तकनीक, आधुनिक संसाधन एवं उन्नत किस्म के बीजों का उपयोग कर उत्पादन को बढ़ाये जाने हेतु प्रोत्साहित करती है। इस प्रकार बीमित कृषक न केवल अपनी आय में वृद्धि करता है, बल्कि प्रदेश एवं देश की खाद्यान्न सुरक्षा में अपने योगदान की प्रमुखता को बनाये रखता है।

उन्होंने कहा कि आज कृषि जगत में सबसे बड़ी चुनौती, जो किसान भाइयों के सामने है, वह है जलवायु परिवर्तन। समय से वर्षा न होना, दो से तीन दिन में ही पूरे सीजन की वर्षा हो जाना, तापमान अचानक कम व अधिक हो जाना ये चीज किसानों के लिए प्रतिकूल होती है, ऐसे प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना एवं पुनर्गठित मौसम आधारित फसल बीमा योजना के अर्न्तगत बीमित कृषक इसका लाभ उठा सकते हैं। प्रदेश के सभी कृषक भाई योजनान्तर्गत 31 जुलाई 2023 तक अपनी फसलों का बीमा कराकर प्राकृतिक आपदाओं से अपनी फसल को सुरक्षा प्रदान करें एवं देश व प्रदेश के आर्थिक विकास में अपना योगदान दें।

इस दौरान कृषि मंत्री ने खरीफ सीजन-2022 एवं रबी सीजन 2022-23 के लिए सर्वाधिक क्षतिपूर्ति प्राप्त करने वाले बीमित किसानों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। प्रशस्ति पत्र प्राप्त करने वालों में जनपद सीतापुर के राम अचल को 1.67 लाख रूपये, ललितपुर के राजेन्द्र सिंह को 1.34 लाख रूपये, बाराबंकी के विक्रमजीत सिंह को 1.26 लाख रूपये, सीतापुर के सावली प्रसाद को 1.25 लाख रूपये, बाराबंकी के कौशलेन्द्र प्रताप सिंह को 1.23 लाख रूपये, वाराणसी के रामबली मिश्र को 1.22 लाख रूपये, दिनेश सिंह को 1.21 लाख रूपये तथा बाराबंकी के रामगोपाल, माधुरी, यदुनन्दन को क्रमशः 1.18 लाख रूपये, 1.14 लाख रूपये तथा 1.13 लाख रूपये का बीमा प्राप्त करने वाले किसान शामिल थे।

इस दौरान सांस्कृतिक दल द्वारा प्रधानमंत्री कृषि बीमा योजना पर एक नुक्कड़ नाटक प्रस्तुत कर योजना की सभी जानकारियां बहुत रोचक ढंग से प्रस्तुत की गयीं। कार्यक्रम के दौरान कृषि मंत्री, कृषि राज्य मंत्री तथा अपर मुख्य सचिव कृषि ने सभी जनपदों में किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लिए जागरूक करने हेतु जा रहे वाहनों को भी हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

उक्त कार्यक्रम में कृषि राज्यमंत्री बलदेव सिंह औलख , अपर मुख्य सचिव कृषि डा० देवेश चतुर्वेदी, सचिव कृषि राजशेखर, निदेशक मण्डी परिषद अंजनी कुमार सिंह, निदेशक उद्यान डॉ0 आर0के0 तोमर, कृषि निदेशक विवेक कुमार सिंह, निदेशक राज्य कृषि प्रबन्ध संस्थान डा० पंकज त्रिपाठी, निदेशक, कृषि सांख्यिकी एवं फसल बीमा श्रीमती सुमिता सिंह एवं बीमा कम्पनी के राज्य स्तर के अधिकारी, बैंकों के नोडल अधिकारी एवं विभाग के वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button