बगदाद में सोमवार देर रात अमेरिकी दूतावास के पास तीन कत्यूषा रॉकेट दागे गए

Medhaj News 21 Jan 20 , 19:11:06 Fashion Viewed : 456 Times
iraq.png

इराक की राजधानी बगदाद में सोमवार देर रात अमेरिकी दूतावास के पास तीन कत्यूषा रॉकेट दागे गए। हालांकि, किसी नुकसान की खबर नहीं है। न्यूज चैनल अल अरबिया ने सुरक्षा सूत्रों के हवाले से बताया कि धमाके के बाद ग्रीन जोन में सुरक्षा अलार्म बजने लगा। अमेरिकी दूतावास बगदाद के उच्च सुरक्षा वाले क्षेत्र ग्रीन जोन में स्थित है। सूत्रों ने कहा कि जफरनियाह जिले से तीन रॉकेट लॉन्च किए गए थे। ईरान के सैन्य कमांडर जनरल कासिम सुलेमानी की मौत के बाद इस्लामिक रिवोल्यूशनरी गार्ड कॉर्प्स का नया कमांडर इस्माइल कानी को बनाया गया है। सोमवार को कानी ने कहा कि अमेरिका ने सुलेमानी को कायरतापूर्ण तरीके से मारा। लेकिन, हम अपने दुश्मन को जोरदार तरीके से मारेंगे। अमेरिका ने तीन जनवरी को बगदाद के एयरपोर्ट पर ड्रोन से हमला कर कासिम सुलेमानी को मार दिया था। जबावी कार्रवाई में ईरान ने भी बगदाद स्थित अमेरिकी दूतावास पर 7 और 8 जनवरी को हमले किए थे।

ईरान के सुप्रीम लीडर अली हसन खामेनेई ने भी सुलेमानी के मारे जाने के बाद से पश्चिम एशिया से सभी अमेरिकी सैनिकों को खदेड़ने की बात कही है। 7 जनवरी को ईरान ने इराक में स्थित दो अमेरिकी सैन्य बेसों पर 22 मिसाइलें दागी थीं। ईरान ने दावा किया था कि अनबर प्रांत में ऐन अल-असद एयर बेस और इरबिल के एक ग्रीन जोन पर हमले में अमेरिका के 80 सैनिक मारे गए। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने ईरान के दावे को झूठा करार दिया था। उन्होंने कहा था कि हमारे किसी सैनिक को कोई नुकसान नहीं हुआ है। वहीं, 8 जनवरी को दो रॉकेट दागे गए थे। ग्रीन जोन पर हुए हमलों के लिए अमेरिका ईरान समर्थित अर्धसैनिक समूहों को दोषी ठहराता रहा है। बगदाद एयरपोर्ट पर तीन जनवरी को अमेरिका द्वारा किए गए ड्रोन हमले में ईरान की इलीट कुद्स सेना के प्रमुख जनरल कासिम सुलेमानी और इराक के ईरान समर्थित संगठन- पॉपुलर मोबिलाइजेशन फोर्स (पीएमएफ) के कमांडर अबु महदी अल-मुहंदिस समेत 8 लोगों की मौत हो गई थी। इसके बाद से ईरान और अमेरिका के बीच तनाव बढ़ गया है।

    मेधज न्यूज़ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

    ...

    Similar Post You May Like

    Trends

    Special Story