राज्यउत्तर प्रदेश / यूपी

वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने किया स्थानीय निधि लेखा परीक्षा विभाग उ.प्र. की आधिकारिक वेबसाइट का लोकार्पण

उत्तर प्रदेश के वित्त एवं संसदीय कार्य मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने आज स्थानीय निधि लेखा परीक्षा विभाग, उ.प्र. के कार्यों व गतिविधियों को डिजिटलाइज़ करने के लक्ष्य से सृजित स्थानीय निधि लेखा परीक्षा विभाग उत्तर प्रदेश की आधिकारिक वेबसाइट http://uplfa.up.gov.in का लोकार्पण किया। इसी के साथ स्थानीय निधि लेखा परीक्षा विभाग की पत्रिका ‘संवीक्षा‘ के प्रथम अंक का विमोचन किया।

उत्तर प्रदेश के वित्त मंत्री  सुरेश कुमार खन्ना आज लखनऊ विश्वविद्यालय के समाज कार्य विभाग में स्थानीय निधि लेखा परीक्षा विभाग के राजपत्रित अधिकारी संघ के 12वें द्विवार्षिक अधिवेशन में बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे थे। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि वित्तीय अनुशासन किसी भी सरकार के लिए महत्वपूर्ण अंग है। वर्तमान प्रदेश सरकार ने इस पर विशेष जोर दिया है । उन्होंने कहा कि यदि आर्थिक स्थिति ठीक होगी तो बाकी सारी स्थितियां ठीक होती है। आर्थिक स्थिति में यदि कहीं विचलन, फिजूलखर्ची या गड़बड़ी है तो वह सभी को प्रभावित करने वाला होता है और भविष्य में ज्यादा कष्ट देता है। यह विभाग बधाई का पात्र है कि सरकार की वित्तीय नियंत्रण में सहयोग के अपने कर्तव्यों का निर्वहन कर रहा है। वर्तमान सरकार ने वित्तीय मितव्ययिता के लिए कई महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं।

सरकार वित्तीय मितव्ययिता के साथ साथ फिजूलखर्ची को रोकने के लिए संवेदनशील है। जहां कहीं भी ऐसे मैटर आते हैं वहां पर सभी पक्षों को सुनते हुए इसके लिए कदम उठाए जा रहे हैं। स्थानीय निधि लेखा परीक्षा विभाग वित्तीय अनियमितता को रोकने के लिए एक महत्वपूर्ण विभाग है।

मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने कहा कि स्थानीय निधि लेखा परीक्षा विभाग स्थानीय निकायों के साथ शैक्षणिक एवं राज्य अनुदानित संस्थाओं के वित्तीय पहलुओं पर एक सजग प्रहरी की भूमिका निभाता है। राज्य सरकार के अनुदानों की सम्यक विवेकपूर्ण व्यय पर निगाह रखते हुये आर्थिक व गुणात्मक दोनों उपयोगिता को सुनिश्चित करता है। उन्होंने कहा कि विभाग के अधिकारी प्रदेश, मण्डल या जनपद स्तर पर आडिट का पर्यवेक्षण तथा गुणवत्तापूर्ण निष्कर्ष की प्राप्ति में सराहनीय भूमिका निभाते हैं। शासन तथा प्रशासन के मध्य समन्वय का कार्य करते हैं। विगत कई वर्षों में कई उल्लेखनीय प्रकरण रहे है जिसमें अधिकारियों की सजगता एवं कर्मठता से वित्तीय विचलन की पुनरावृत्ति को रोका जा सका है, इसलिये यह विभाग साधुवाद का पात्र हैं। सरकार की तरफ से मैं आश्वस्त करता हूँ कि ये अपने कर्तव्यों का शुचितापूर्वक पालन करें, इस हेतु किसी भी प्रकार का मार्गदर्शन करने हेतु प्रशासकीय विभाग (वित्त विभाग) सदैव तत्पर है।

मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने कहा कि ऐसा संज्ञान में आया है कि विभाग कतिपय चुनौतियों यथा जनशक्ति का अभाव, अल्प पदोन्नति के अवसर, लखनऊ के मुख्यालय भवन स्थानान्तरण आदि का सामना कर रहा है। इस सम्बन्ध में निदेशक तथा राजपत्रित अधिकारी संघ के अध्यक्ष द्वारा प्रस्ताव उपलब्ध कराया गया है, इनका यथा सम्भव समुचित निराकरण करने का प्रयास किया जायेगा।

वित्त मंत्री ने कहा कि स्थानीय निधि लेखा परीक्षा विभाग की आज लोकार्पित आधिकारिक वेबसाइट को सामान्य नागरिकों द्वारा विभिन्न सेवाओं का लाभ प्राप्त करने के दृष्टिकोण से उपयोग किया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि हमारा विश्वास है कि यह वेबसाइट सभी के लिए उपयोगी सिद्ध होगी एवं आने वाले समय में विभाग द्वारा अन्य सेवाओं को भी वेबसाइट के माध्यम से ऑनलाइन किया जाएगा।

इस अवसर पर विशेष सचिव पी0डी0 उपाध्याय, निदेशक स्थानीय निधि लेखा परीक्षा ऐ0के0 सिंह एवं राजपत्रित अधिकारी संघ के सचिव विश्वनाथ पाण्डेय तथा अध्यक्ष नीरज कुमार गुप्ता एवं विभिन्न विभागीय अधिकारी एवं कर्मचारी सहित अन्य गणमान्य उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button