विशेष खबर

आइए जानते हैं जुलाई माह में ग्रह गोचर और उनके प्रभावों के बारे में, जानें कैसा रहेगा जुलाई माह

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार जुलाई माह में कुछ महत्वपूर्ण ग्रह गोचर करेंगे। इसका असर सभी राशियों पर देखने को मिलेगा. इस माह में सूर्य, मंगल, बुध और शुक्र गोचर में परिवर्तन करेंगे। इस वजह से यह महीना ज्योतिष की दृष्टि से काफी महत्वपूर्ण रहने वाला है। इस माह में कुछ प्रमुख ग्रह राशि परिवर्तन करेंगे, जिसका सभी राशियों पर सकारात्मक और नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। मंगल, शुक्र, बुध और सूर्य। इनमें से दो ग्रह ऐसे हैं जो इस दौरान उदय और वक्री अवस्था में रहेंगे।

आइए जानते हैं जुलाई माह में ग्रह गोचर और उनके प्रभावों के बारे में-

1-मंगल का गोचर-

मंगल सिंह राशि में गोचर करने जा रहा है, जो 1 जुलाई 2023 को सुबह 01 बजकर 52 मिनट पर होगा. मेष और वृश्चिक राशि का स्वामी मंगल है। मेष राशि वालों के लिए यह समय सकारात्मक परिणाम देगा। आध्यात्म की ओर रुझान बढ़ेगा। शिक्षा के क्षेत्र में सकारात्मक परिणाम प्राप्त होंगे। पंचम भाव के मजबूत होने से व्यक्ति का रुझान राजनीति और सरकारी नौकरियों की ओर हो सकता है। इस दौरान जातक प्रभावशाली लोगों के संपर्क में आएगा, जिससे भविष्य में उसे लाभ मिलेगा। सरकारी कार्यों में सफलता मिलेगी। वैदिक ज्योतिष में मंगल को सभी ग्रहों का सेनापति और योद्धा माना जाता है। मंगल हमारे शरीर में रक्त का कारक है और किसी भी व्यक्ति के साहस और पराक्रम को दर्शाता है। जो लोग इस समय बिजनेस, रियल एस्टेट और प्रॉपर्टी के काम से जुड़े हैं उन्हें अच्छा मुनाफा होने की उम्मीद है।

2-शुक्र का पारगमन-

शुक्र को कला, प्रेम, सौंदर्य, वैवाहिक जीवन और वाहन सहित कई अन्य भौतिक सुखों का कारक माना गया है। शुक्र 7 जुलाई 2023 को प्रातः 03:59 बजे सिंह राशि में गोचर करेगा। शुक्र 23 जुलाई 2023 को प्रातः 6.01 बजे कर्क राशि में वक्री होंगे। इस दौरान आपको माता के स्वास्थ्य की चिंता हो सकती है और आकस्मिक वाहन दुर्घटना भी हो सकती है। बिजनेस में महत्वपूर्ण फैसले लेने से बचें, अन्यथा नुकसान हो सकता है। जीवन में अत्यधिक चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा। संतान के भविष्य को लेकर चिंतित हो सकते हैं। जीवनसाथी से मतभेद हो सकते हैं। स्वास्थ्य की दृष्टि से भी यह समय सामान्य रहेगा।

3-बुध का गोचर-

बुध को सभी ग्रहों में राजकुमार का दर्जा दिया गया है। बुध मिथुन और कन्या राशि का स्वामी है, बुध अपनी कन्या राशि में उच्च का और मीन राशि में नीच का रहता है। बुध का सूर्य और शुक्र के साथ मित्रतापूर्ण संबंध है और चंद्रमा के साथ शत्रुतापूर्ण संबंध है और अन्य ग्रहों के साथ इसका समान संबंध है। बुध 8 जुलाई 2023 को प्रातः 12.05 बजे कर्क राशि में गोचर करेगा। कर्क राशि में अस्त होने वाला बुध 14 जुलाई 2023 को कर्क राशि में उदय होगा। बुध का सिंह राशि में गोचर 25 जुलाई 2023 को सुबह 4.26 बजे होगा। गोचर के दौरान जातकों के लिए समय अनुकूल रहेगा। व्यापार में पहले से अधिक सक्रिय रहेंगे और अधिक धन लाभ की संभावना है। नौकरीपेशा लोग कार्यस्थल पर मन लगाकर काम करेंगे। जो लोग विदेश जाने का प्रयास कर रहे हैं उनका सपना पूरा हो सकता है। इस दौरान नए दोस्त बनेंगे जो भविष्य में फायदेमंद रहेंगे।

4-सूर्य का गोचर-

वैदिक ज्योतिष के अनुसार सूर्य को ग्रहों का राजा कहा जाता है, सूर्य देव हर महीने अपनी राशि बदलते हैं। सूर्य पारगमन को संक्रांति के नाम से जाना जाता है। 16 जुलाई 2023 को सुबह 4 बजकर 59 मिनट पर सूर्य बुध की राशि मिथुन से निकलकर कर्क राशि में गोचर करेगा। गोचर के दौरान जातक को अपने परिवार की चिंता रहेगी। घर की आवश्यक आवश्यकता पूरी होगी। प्रॉपर्टी आदि खरीदने की योजना बना सकते हैं। इस दौरान आप कम मेहनत में अधिक मुनाफा कमा सकते हैं। करियर को लेकर कई नए मौके मिल सकते हैं। बिजनेस में सफलता मिलेगी. विदेश में रहने वाले रिश्तेदारों को लाभ मिल सकता है। जीवनसाथी से भरपूर सहयोग मिलेगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button