लॉकडाउन के बाद इंडिगो का प्लान, विमान होंगे सैनिटाइज और मील सर्विस फिलहाल बंद

Medhaj News 10 Apr 20 , 06:01:40 Governance Viewed : 3 Times
photo.png

कोरोना वायरस के महामारी के बीच देश में 14 अप्रैल तक जारी लॉकडाउन के बीच एयरलाइन कंपनी इंडिगो ने कहा है कि वह अपने विमानों को लगातार सैनि‍टाइज करेगी और इन-फ्लाइट-मील सर्विस को फिलहाल बंद रखेगी | कोरोना वायरस के संक्रमण पर रोक के लिए लगाए गए 21 दिन के लॉकडाउन में कुछ 'सीमाओं' के साथ रियायत के संकेत के बीच एयरलाइन का यह बयान सामने आया है | एयरलाइन कंपनियां लॉकडाउन खत्‍म होने के बाद की तैयारियों के अंतिम रूप में जुटी हैं | इन सीमाओं के तहत ये कंपनियां अपने विमानों में क्षमता की 50 फीसदी सीटें ही भरेंगी यानी इस बात का पूरा ध्‍यान रखा जाएगा कि यात्रियों के बीच पर्याप्‍त दूरी रहे | एयरलाइन के CEO रंजय दत्ता ने कर्मचारियों को भेजे एक ई-मेल में कहा - हम हमेशा सेहत के प्रति सचेत रहे हैं | अब हमें स्वास्थ्य के प्रति भी सचेत रहना चाहिए | इसके साथ ही हम अपनी ऑपरेशनल प्रक्रिया को बदल रहे हैं | जिन बदलावों को अमल में लाया जाएगा उसमें विमानों को लगातार सेनिटाइज करना, मील सर्विस पर रोक लगाना और सोशल डिस्‍टेंसिंग का ध्‍यान रखते हुए यात्रियों की संख्‍या को सीमित रखना शामिल है |





दत्‍ता ने कहा कि मौजूदा परिस्थितियों में हमारा ध्‍यान कैश फ्लो पर हैं | हमारा ध्‍यान अपनी फिक्‍स्‍ड कॉस्‍ट पर है और इसे कम करने के तरीके तलाश रहे हैं | गौरतलब है कि COVID-19 के प्रकोप और उसके बाद के लॉकडाउन से भारत का विमानन क्षेत्र सबसे बुरी तरह प्रभावित हुआ है | देश में घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों के संचालन को 14 अप्रैल तक निलंबित कर दिया गया है | हालांकि इस बात की संभावना नहीं के बराबर है कि 25 मार्च से शुरू हुआ 21 दिन का लॉकडाउन पूरी तरह से हटा लिया जाएगा क्‍योंकि पीएम नरेंद्र मोदी ने विपक्षी नेताओं के साथ वीडियो कॉन्‍फ्रेसिंग के जरिये बातचीत के बाद कहा था कि मौजूदा परिस्थितियों में लॉकडाउन को हटाना संभव नहीं है |

ऑल पार्टी मीट में जिन नेताओं ने भाग लिया था उनके अनुसार, पीएम ने कहा था कि सरकार की प्राथमिकता अभी हर शख्‍स के जीवन की सुरक्षा करता है |  देश में स्थिति सोशल इमरजेंसी की तरह है | उन्‍होंने कहा था कि कोविड-19 के बाद जिंदगी पहले जैसी नहीं रह जाएगी और लोगों को व्‍यवहारगत, सामजिक और व्‍यक्तिगत व्‍यवहार में बदलावों को अमल में लाना होगा | वैसे, सूत्रों से प्राप्‍त जानकारी के अनुसार, लंबे लॉकडाउन के कारण आर्थिक मंदी के चलते कुछ खास सेक्‍टरों को सोशल डिस्‍टेंसिंग के मानदंडों का पालन करते हुए रियायत दी जा सकती है | उड्डयन क्षेत्र इस मामले में सबसे ज्‍यादा प्रभावित है | सूत्रों ने बताया कि सभी क्‍लासेस में बीच की सीट खाली रखने के नियम के साथ एयरलाइंस से उड़ान शुरू करने की इजाजत दी जा सकती है |  


    0
    0

    Comments

    Leave a comment



    Similar Post You May Like

    Trends

    Special Story