अधिकारियों ने Covid की तीसरी लहर से गृहों में आवासित महिलाओं तथा बच्चों के बचाव हेतु इंतजामों का लिया जायेजा

गृहों में आवासित महिलाओं तथा बच्चों

प्रदेश के राजकीय गृहों में उच्चाधिकारियों द्वारा किये जा रहे निरीक्षण के अंर्तगत मुख्यालय से उपनिदेशक महिला कल्याण प्रेमवती, अनु सिंह, आशुतोष कुमार, पुनीत मिश्रा तथा बी0एस0 निरंजन द्वारा अयोध्या, प्रयागराज, कानपुर तथा लखनऊ मंडलों के गृहों का किया गया दौरा।

इस दौरान लखनऊ स्थित पाश्चातवर्ती देखरेख संगठन-बालक, कानपुर, इटावा तथा अयोध्या स्थित महिला शरणालय व संप्रेक्षण गृह- किशोर तथा प्रयागराज स्थित संप्रेक्षण गृह-किशोर व बालगृह बालिका का निरीक्षण किया गया।

निरीक्षण के दौरान प्रयागराज संप्रेक्षण गृह-किशोर में टेबिल टेनिस खेलने की सुविधा उपलब्ध थी जबकि इसका उपयोग नहीं किया जा रहा है। उप निदेशक पुनीत कुमार मिश्रा ने प्रभारी अधीक्षक को तत्काल प्रभाव से बच्चों के खेलकुद की व्यवस्था करने हेतु निर्देशित किया गया। कानपुर स्थित महिला शरणालय में महिलाओं का वैक्सिनेशन ना होने पर उप निदेशक अनु सिंह ने नाराजगी दिखाते हुये आगामी सप्ताह में इसे सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये। जबकि अयोध्या संप्रेक्षण गृह में निरंतर किशोरों का कोविड टेस्ट कराया जा रहा है 8 जून को आई रिपोर्ट में सभी किशोरों की रिपोट नेगेटिव आने और निरंतर जनपद में संस्थाओं को सेनेटाइज किये जाने पर उप निदेशक आशुतोष सिंह ने संतुष्टि जताई। अन्य संस्थाओं में स्थिति सामान्य पाई गई।

Share this story