राज्यउत्तर प्रदेश / यूपी

हनुमान धारा चित्रकूट में एक महत्वपूर्ण धार्मिक स्थल

हनुमान धारा उत्तर प्रदेश के चित्रकूट जनपद में रामघाट से लगभग 3 किमी दूर स्थित है। भगवान हनुमान जी की प्रतिमा के ऊपर से बहने वाली धारा के कारण इस स्थान को हनुमान धारा कहा जाता है। हनुमान धारा पर्वतमाला के मध्यभाग में स्थित एक झरना है। पहाड़ के सहारे हनुमान जी की एक विशाल प्रतिमा के ठीक सिर पर दो जल के कुंड हैं, जो हमेशा जल से भरे रहते हैं और उनमें से निरंतर पानी बहता रहता है। इस धारा का जल हनुमानजी को स्पर्श करता हुआ बहता है।
हनुमान धारा स्थित भगवान हनुमान जी की प्रतिमा का निर्माण लाल संगमरमर पत्थरों द्वारा किया गया है। यहां 12 महीनें भक्तों का आना जाना लगता रहता है। ऐसा माना जाता है कि भगवान हनुमान, जब लंका में आग लगाने के बाद इस स्थान पर लौटकर आए थे तो वह क्रोध से काँप रहे थे। उनके क्रोध को शांत करने के लिए भगवान श्री राम जी ने चट्टान में एक तीर चलाया जिससे एक जलधारा बहने लगी। हनुमान जी ने इस जलधारा में स्नान किया और उनका क्रोध शांत हो गया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button