राज्यउत्तर प्रदेश / यूपी

हाथरस किला जनपद हाथरस में एक महत्वपूर्ण पौराणिक स्थल

उत्तर प्रदेश के हाथरस जनपद में कई प्राचीन और महत्वपूर्ण स्थल हैं। इसमें से एक है “हाथरस किला” जिसे हिस्सा हाथरस नगर निगम क्षेत्र के रूप में जाना जाता है। यह किला क्षेत्र के इतिहास और संस्कृति की एक महत्वपूर्ण विरासत है।

हाथरस के किले को राजा दयाराम किला और श्री दाऊजी मंदिर के नाम से भी जाना जाता है। हाथरस किले का निर्माण 18वीं शताब्दी में जाट राजा राजा दयाराम सिंह ने कराया था। आमतौर पर किला गेट के नाम से जाना जाने वाला, हाथरस किला एक लोकप्रिय पर्यटक स्थल है। हाथरस विद्रोह जिसे हाथरस की घेराबंदी के रूप में भी जाना जाता है, फरवरी 1817 में हाथरस के जाट शासक राजा दयाराम और ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी के बीच इसी हाथरस किले में हुई थी। 20वीं सदी के अंत में, 200 साल पुरानी विरासत इमारत को दाऊजी मंदिर में बदल दिया गया था।

वर्तमान में यह किला एक विशाल मिट्टी के टापू में बदल गया है, जिसमें बिखरे पत्थरों के टुकड़ों पर प्राचीन कला और संस्कृति की झलक नजर आती है।

हाथरस किला एक प्राचीन और संस्कृतिक स्थल के रूप में भी महत्वपूर्ण है। हाथरस किला उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले का एक ऐतिहासिक और सांस्कृतिक धरोहर है। करीब साढ़े तीन एकड़ जमीन पर फैले पौराणिक धरोहर रमणीक पर्यटक स्थल के रूप में विकसित किया जाना नितांत आवश्यक है।

read more… हरदोई जनपद के हत्या हरण तीर्थ में मिलती है पापों से मुक्ति

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button