मनोरंजनहास्य

मैं क्या यहाँ अपहरण करके लाया गया हूँ

पिंटू के रोने पर उसका पापा बोला….
पिंटू के पापा- अजी सुनते हो,
पप्पू रो रहा है।
मां-मैं खाना बनाऊं, या काम करूं,
मैं दहेज में नहीं लाई थी
जैसे चुप कराना है, कराओ
पिंटू के पापा-मैंने भी कौन सा बारात में लाया था।
रहने दो, खुद ही चुप हो जाएगा।

*******************************************************************
दामाद 14 दिनों से ससुराल में था ।
सास :- ” दामाद जी कब वापस जा रहे हो ”
दामाद :-क्योँ
सास बहुत दिन हो गये ।
दामाद :- आपकी बेटी तो छ: छ: महीने मेरे यहाँ
रहती है ।
सास वो तो वहाँ ब्याही गयी है ।
दामाद :- और मैं क्या यहाँ अपहरण करके
लाया गया हूँ

******************************************************************
सुबह पत्नी चाय नाश्ता पूछने आई, तो फिर रुक कर पूछने लगी
जी ये मोदी एक दिन मे 3 देश कैसे घूम सकते है।
मैंने कहा:- अगर साथ में बीवी न हो तो आदमी एक दिन में
मॉस्को, काबुल और लाहौर घूमते हुए दिल्ली आ सकता है.. !!
वरना D Mart मे ही शाम हो जाती है।
बस उसके बाद ना चाय आई ना नाश्ता ।

************************************************************************
पति और पत्नी में झगड़ा चल रहा था
पति – तुमसे शादी करने से अच्छा तो मैं कुंवारा ही रहता
पत्नी – मैंनें भी अपनी मां की बात मान ली होती तो अच्छा होता
पति – क्या कहती थी तुम्हारी मां
पत्नी – कहती थी, मत कर इस लड़के से शादी
पति – हे भगवान, मैं आज तक उस भली औरत को बुरा समझता रहा,
जो मुझे बचाना चाह रही थी

************************************************************************
डॉक्टर – जब तुम तनाव में होते हो क्या करते हो?
मरीज – जी, मंदिर चला जाता हूं…
डॉक्टर – बहुत बढ़िया, ध्यान-व्यान लगाते हो वहां
मरीज – जी नहीं, लोगों के जूते चप्पल मिक्स कर देता हूं
फिर उन लोगों को देखता रहता हूं उनको तनाव में देख कर मेरा
तनाव दूर हो जाता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button